सोमवार, 12 नवंबर 2018

आज के दौर की दिवाली

दीपावली के आगमन से पूर्व से ही शुभकामनाओं के संदेशे तो बहुत आये लेकिन मेहमान कोई नही आया. सोचता हूँ ड्राइंग रूम से सोफा हटा दूं. या ड्राइंग रूम का कांसेप्ट बदलकर वहां स्टडी रूम बना दूं.
दो दिन से व्हाट्स एप और एफबी के मेसेंजर पर मेसेज खोलते, स्क्रॉल करते और फिर जवाब के लिए टाइप करते करते पहले दाहिने और अब तो हाथ के अंगूठे में भी दर्द होने लगा है. संदेशें आते जा रहे हैं. बधाईयों का तांता है . लेकिन मेहमान नदारद है .
ये है आज के दौर की दीवाली....
मित्रों, घर के आसपास के पड़ौसी अगर छोड़ दें तो त्यौहार पर मिलने जुलने का रिवाज़ खत्म हो चला है. पैसे वाले दोस्त और अमीर किस्म के रिश्तेदार मिठाई या गिफ्ट तो भिजवाते है लेकिन घर पर बेल ड्राईवर बजाता है. वो खुद नही आते.
दरअसल घर अब "घर" नही रहा. ऑफिस के वर्क स्टेशन की तरह घर एक स्लीप स्टेशन है. हर दिन का एक रिटायरिंग बेस. आराम करिए, फ्रेश हो जाईये और चल पड़िए अगले दिन काम पर...
घर अब सिर्फ घरवालों का है. घर का समाज से कोई संपर्क नही है. मेट्रो युग में समाज और घर के बीच तार शायद टूट चुके हैं. हमें  स्वीकार करना होगा कि ये बचपन वाला घर नही रहा. अब घर और समाज के बीच में एक बड़ा फासला सा है.
वैसे भी शादी अब मेरिज हाल में होती है. बर्थडे मैक डोनाल्ड या पिज़्ज़ा हट में मनाया जाता है. बीमारी में नर्सिंग होम में खैरियत पूछी जाती है. और अंतिम आयोजन के लिए सीधे लोग घाट पहुँच जाते है.
सच तो ये है कि जब से डेबिट कार्ड और एटीएम आ गये है तब से मेहमान क्या ...चोर भी घर नही आते.
मैं सोचता हूँ कि चोर आया तो क्या ले जायेगा...फ्रिज, सोफा, पलंग, लैप टॉप..टीवी...कितने में बेचेगा इन्हें चोर? अरे री -सेल तो olx ने चौपट कर दी है. चोर को बचेगा क्या ? वैसे भी अब कैश तो एटीएम में है इसीलिए होम डेलिवरी वाला भी पिज्ज़ा के साथ डेबिट मशीन साथ लाता है.

सच तो ये है कि अब सवाल सिर्फ घर के आर्किटेक्ट को लेकर ही बचा है.
जी हाँ....क्या घर के नक़्शे से ड्राइंग रूम का कांसेप्ट खत्म कर देना चाहिये ?
इस दीवाली जरा इस सवाल पर गौर करियेगा।
     सादर🙏🙏💐

आज का पंचांग 12 नवंबर 2018

.                 ।। 🕉 ।।
*🙏🌹जय श्री राम🌹🙏*
   🚩 🌞 *सुप्रभातम्* 🌞 🚩
📜««« *आज का पंचांग* »»»📜
कलियुगाब्द........................5120
विक्रम संवत्.......................2075
शक संवत्..........................1940
मास................................कार्तिक
पक्ष...................................शुक्ल
तिथी.................................पंचमी
रात्रि 01.52 पर्यंत पश्चात षष्ठी
रवि.............................दक्षिणायन
सूर्योदय..................06.37.19 पर
सूर्यास्त...................05.44.34 पर
सूर्य राशि..............................तुला
चन्द्र राशि..............................धनु
नक्षत्र.............................पूर्वाषाढ़ा
रात्रि 02.30 पर्यंत पश्चात उत्तराषाढ़ा
योग.....................................धृति
दोप 02.56 पर्यंत पश्चात शूल
करण....................................बव
दोप 12.46 पर्यन्त पश्चात बालव
ऋतु.....................................शरद
दिन.................................सोमवार

🇬🇧 *आंग्ल मतानुसार :-*
12 नवम्बर सन 2018 ईस्वी ।

👁‍🗨 *राहुकाल :-*
प्रात: 08.03 से 09.26 तक ।

🚦 *दिशाशूल :-*
पूर्व दिशा- यदि आवश्यक हो तो दर्पण देखकर यात्रा प्रारंभ करें।

☸ शुभ अंक..............3
🔯 शुभ रंग.............लाल

📜 *चौघडिया :-*
प्रात: 06.40 से 08.02 तक अमृत
प्रात: 09.25 से 10.47 तक शुभ
दोप. 01.32 से 02.54 तक चंचल
अप. 02.54 से 04.16 तक लाभ
सायं 04.16 से 05.39 तक अमृत
सायं 05.39 से 07.17 तक चंचल ।

📿 *आज का मंत्र :-*
|| ॐ देवाधिदेवाय नमः ||

🎙 *संस्कृत सुभाषितानि :-*
अभिवादनशीलस्य
नित्यं वॄद्धोपसेविन:।
चत्वारि तस्य वर्धन्ते
आयुर्विद्या यशो बलम्॥
अर्थात :
विनम्र और नित्य अनुभवियों की सेवा करने वाले में चार गुणों का विकास होता है - आयु, विद्या, यश और बल ॥

🍃 *आरोग्यं :-*
चेहरे की त्वचा पर नारियल के तेल के लाभ -

*3. डैंड्रफ़ की समस्या -*
डैंड्रफ़ की समस्या हर किसी के लिए शर्मनाक हो सकती है। इसलिए खुद को डैंड्रफ से दूर खने के लिए अपने बालों पर हल्का गर्म नारियल तेल लगाइए और उसके बाद शैंपू कर लीजिए।

⚜ *आज का राशिफल :-*

🐏 *राशि फलादेश मेष :-*
घर-परिवार की चिंता बनी रहेगी। अधिक ध्यान देना पड़ेगा। भय, तनाव व चिंता रहेंगे। अपनी बात ठीक ढंग से लोगों को समझा नहीं पाएंगे। वाणी पर नियंत्रण रखें पूजा-पाठ में मन लगेगा। कोर्ट व कचहरी के काम अपने पक्ष में रहेंगे। आय में वृद्धि होगी। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें।

🐂 *राशि फलादेश वृष :-*
चोट व दुर्घटना से बड़ी हानि हो सकती है। छोटे बच्चों पर निगाह रखें। विवाद से क्लेश होगा। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रहेगा। दुष्टजन हानि पहुंचा सकते हैं। समय पर काम नहीं होने से तनाव रहेगा। दूसरों से अपेक्षा न करें। व्यवसाय ठीक चलेगा। आय बनी रहेगी। झंझटों में न पड़ें।

👫 *राशि फलादेश मिथुन :-*
वैवाहिक प्रस्ताव मिल सकता है। घर-परिवार के सदस्य सहयोग करेंगे। प्रसन्नता रहेगी। किसी मांगलिक कार्य में भाग लेने का अवसर प्राप्त होगा। कानूनी अड़चन दूर होगी। यात्रा लाभदायक रहेगी। व्यवसाय ठीक चलेगा। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। बाहरी सहयोग मिलेगा।

🦀 *राशि फलादेश कर्क :-*
संपत्ति के कार्य बड़ा लाभ देंगे। रोजगार मिलेगा। आय में वृद्धि होगी। प्रभावशाली व्यक्तियों से परिचय बढ़ेगा। पारिवारिक तनाव रह सकता है। स्वास्थ्य पर व्यय होगा। प्रतिद्वंद्वी शांत रहेंगे। दुष्टजन हानि पहुंचा सकते हैं। व्यवसाय लाभप्रद रहेगा। भाग्य का साथ मिलेगा। जोखिम न लें।

🦁 *राशि फलादेश सिंह :-*
विद्यार्थी वर्ग सफलता हासिल करेगा। कला रचना के क्षेत्र में रुचि रहेगी। मनपसंद भोजन का आनंद मिलेगा। मनोरंजक यात्रा हो सकती है। व्यवसाय ठीक चलेगा। ईष्ट मित्रों के साथ समय अच्‍छा व्यतीत होगा। चिंता रहेगी। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। लोगों की बातों में न आकर स्वयं निर्णय लें।

👩🏻 *राशि फलादेश कन्या :-*
बुरी खबर मिल सकती है। भागदौड़ रहेगी। क्रोध व उत्तेजना पर नियंत्रण रखें। बनते काम बिगड़ सकते हैं। बड़े निर्णय सोच-समझकर करें। कुसंगति से हानि होगी। पुराना रोग उभर सकता है। व्यवसाय ठीक चलेगा। पारिवारिक अशांति रह सकती है। जल्दबाजी न करें। लाभ के अवसर हाथ से निकलेंगे।

⚖ *राशि फलादेश तुला :-*
मेहनत का फल पूरा-पूरा मिलेगा। भाग्य का साथ रहेगा। प्रेम-प्रसंग में अनुकूलता रहेगी। रोजगार में वृद्धि होगी। प्रभावशाली व्यक्तियों का मार्गदर्शन प्राप्त होगा। व्यावसायिक यात्रा मनोनुकूल रहेगी। घर-बाहर पूछ-परख बढ़ेगी। लाभ में वृद्धि होगी। तनाव रहेगा। नौकरी में प्रमोशन मिल सकता है।

🦂 *राशि फलादेश वृश्चिक :-*
कानूनी अड़चन का सामना करना पड़ सकता है। विवाद से बचें। बेचैनी रहेगी। पुराने भूले-बिसरे साथियों से मुलाकात होगी। उत्साहवर्धक सूचना प्राप्त होगी। आत्मसम्मान बढ़ेगा। मित्र व संबंधियों के साथ अच्‍छा समय गुजरेगा। आय बनी रहेगी। आलस्य हावी रहेगा। प्रमाद न करें। चिंता में कमी रहेगी।

🏹 *राशि फलादेश धनु :-*
व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। भेंट व उपहार की प्राप्ति होगी। रोजगार में वृद्धि होगी। परीक्षा व साक्षात्कार आदि में सफलता प्राप्त होगी। नौकरी में अधिकार बढ़ेंगे। व्यापार में पार्टनरों का सहयोग प्राप्त होगा। झंझटों में न पड़ें। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। पारिवारिक मतभेद कम होंगे। प्रसन्नता रहेगी।

🐊 *राशि फलादेश मकर :-*
अप्रत्याशित खर्च सामने आएंगे। कर्ज लेना पड़ सकता है। दूसरों से अपेक्षा पूरी नहीं होगी। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। कुसंगति से बचें। बुद्धि का प्रयोग करें। लाभ होगा। अपेक्षित कार्यों में विलंब हो सकता है। चिंता तथा तनाव रहेंगे। आय बनी रहेगी। कार्य पर अधिक ध्यान देना पड़ेगा।

🏺 *राशि फलादेश कुंभ :-*
डूबी हुई रकम प्राप्त हो सकती है। आय के नए स्रोत प्राप्त हो सकते हैं। लाभ में वृद्धि तथा मान-सम्मान सहज ही मिलेगा। यात्रा लाभदायक रहेगी। भाग्य अनुकूल रहेगा। थकान महसूस होगी। ऐश्वर्य के साधनों पर व्यय होगा। पारिवारिक सौहार्द बढ़ेगा। निवेश व नौकरी मनोनुकूल रहेंगे।

🐋 *राशि फलादेश मीन :-*
योजना फलीभूत होगी। कार्यस्थल पर परिवर्तन संभव है। घर-बाहर पूछ-परख रहेगी। समय की अनुकूलता बनी हुई है। कार्य में ध्यान दें। लाभ में वृद्धि होगी। घर-बाहर सहयोग मिलेगा। स्वास्थ्य की चिंता रह सकती है। लापरवाही न करें। उत्साह बना रहेगा। विवेक से कार्य की बाधा दूर होगी।

☯ *आज का दिन सभी के लिए मंगलमय हो ।*

।। 🐚 *शुभम भवतु* 🐚 ।।

🇮🇳🇮🇳 *भारत माता की जय* 🚩🚩

मंगलवार, 6 नवंबर 2018

आज की दुनिया बहुत ADVANCE है

आज की दुनिया बहुत ADVANCE है
इस ADVANCE दुनिया की ADVANCE TECHNOLOGY में
आपके इस ADVANCE दोस्त की तरफ से आपको ADVANCE “दिल से
ADVANCE में सभी मित्रों को "सांवरिया" & Police Public Press की तरफ से दीपावली की हार्दिक शुभ कामनाये
Mastermind wishing you Happy Diwali in Advance

दिवाली पर्व तिथि व मुहूर्त 2018

दिवाली 2018

7 नवंबर

लक्ष्मी पूजा मुहूर्त- 17:57 से 19:53

प्रदोष काल- 17:27 से 20:06

वृषभ काल- 17:57 से 19:53

अमावस्या तिथि आरंभ- 22:27 (06 नवंबर)

अमावस्या तिथि समाप्त- 21:31 (07 नवंबर)




#happydiwali
#sanwariya
#policepublicpress
#bharat
#festival
#digitalindia
#king
#media
#news
#rajasthan
#jodhpur
#deepawali
#happydeepawali
#shubhdeepawali

दीपावली स्पेशल

दीपावली स्पेशल

दीपावली में हर व्यक्ति चाहता है की लक्ष्मी उस पर मेहरान हो लक्ष्मी देवी को प्रसन्न करने और दीवाली पर धन पाने के कुछ अचूक उपाय बतलाये जा रहे है आशा है इनका प्रयोग कर पाठक गण इसका लाभ उठा सकेंगे ये उपाय इस प्रकार है

(1)-दीपावली पूजन में 11 कोड़ियां, 21 कमलगट्टा, 25 ग्राम पीली सरसों लक्ष्मीजी को चढ़ाएं (एक प्लेट में रखकर अर्पण करें)। अगले दिन तीनों चीजें लाल या पीले कपड़े में बांधकर तिजौरी में या जहां पैसा रखते हों वहां , रख दें।
(2)- दीपावली के दिन अशोक वृक्ष की जड़ का पूजन करने से घर में धन-संपत्ति की वृद्धि होती है
(3)- दीपावली के दिन पानी का नया घड़ा लाकर पानी भरकर रसोई में कपड़े से ढंककर रखने से घर में बरक्कत और खुशहाली बनी रहती है
(4)- धनतेरस के दिन हल्दी और चावल पीसकर उसके घोल से घर के मुख्य दरवाजे पर ऊँ बनाने से घर में लक्ष्मीजी (धन) का आगमन बना ही रहता है
(5)- नरक चतुर्दशी छोटी दीपावली को प्रात:काल अगर हाथी मिल जाए तो उसे गन्ना या मीठा जरूर खिलाने से अनिष्ठों, जटिल मुसीबतों से मुक्ति मिलती हह्य। अनहोनी से सदेव रक्षा होती है
(6)- दीपावली के पूजन के बाद शंख और डमरू बजाने से घर की दरिद्रता दूर होती है और लक्ष्मीजी का आगमन बना रहता है ।
(7)- दीपावली के दिन पति-पत्नी सुबह लक्ष्मी-नारायण विष्णु मंदिर जाएं और एक साथ लक्ष्मी-नारायणजी को वस्त्र अर्पण करने से कभी भी धन की कमी नहीं रहेगी। संतान दिन दूनी, रात चौगुनी तरक्की करेगी।
(8)- दीपावली के दिन इमली के पेड़ की छोटी टहनी लाकर अपनी तिजेरी या धन रखने के स्थान पर रखने से धन में दिनोंदिन वृद्धि होती है
(9)- दीपावली के दिन काली हल्दी को सिंदूर और धूप दीप से पूजन करने के बाद 2 चाँदी के सिक्कों के साथ लाल कपड़े में लपेटकर धन स्थान पर रखने से आर्थिक समस्याएं कभी नहीं रहतीं।
(10)- दीपावली के अगले दिन गाय के गोबर का दीपक बनाकर उसमें पुराने गुड़ की एक डेली और मीठा तेल डालकर दीपक जलाकर घर के मुख्य द्वार के बीचोंबीच रख दें। इससे घर में सुख-समृद्धि दिनों दिन बढ़ती रहेगी।
(11)- दीपावली के दिन मुक्तिधाम (श्मशानभूमि) में स्थित शिव मंदिर में जाकर दूध में शहर मिलाकर चढ़ाने से सट्टे और शेयर बाजार से धन अवश्य ही मिलता है
(12)- दीपावली के दिन नया झाड़ू खरीदकर लाएं। पूजा से पहले उससे पूजा स्थान की सफाई कर उसे छुपाकर एक तरफ रख दें। अगले दिन से उसका उपयोग करें, इससे दरिद्रता का नाश होगा और लक्ष्मीजी का आगमन बना रहेगा
(13)- दीपावली के दिन एक चाँदी की बाँसुरी राधा-कृष्णजी के मंदिर में चढ़ाने के बाद 43 दिन लगातार भगवान श्रीकृष्णजी के कोई भी मंत्र का जाप करें। गाय को चारा खिलाएं और संतान प्राप्ति के लिए प्रार्थना करें। निश्चय ही भगवान श्रीकृष्णजी की कृपा से आपको संतान प्राप्ति अवश्य ही होगी।
(14)- दीपावली पर गणेश-लक्ष्मीजी की मूर्ति खरीदते समय यह अवश्य ही देखें कि गणेशजी की सूड़ गणेशजी की दांयी भुजा की ओर जरूर मुड़ी हो। इनकी पूजा दीपावली में करने से घर


में रिद्धि-सिद्धि धनसंपदा में बढ़ोत्तरी, संतान की प्रतिष्ठा दिनोंदिन बढ़ती है
(15)- भाईदूज के एक दिन एक मुट्ठी साबुत बासमती चावल बहते हुए पानी में महालक्ष्मीजी का स्मरण करते हुए छोड़ने से धन्य-धान्य में दिन-प्रतिदिन वृद्धि होती है
(16)- आंवले के फल में, गाय के गोबर में, शंख में, कमल में, सफेद वस्त्रों में लक्ष्मीजी का वास होता है इनका हमेशा ही प्रयोग करें। आंवला घर में या गल्ले में अवश्य ही रखें।
(17)- दीपावली के दिन हनुमान मंदिर में लाल पताका चढ़ाने से घर-परिवार की उन्नति के साथ ख्याति धन संपदा बढ़ाती है
(18)- नरक चतुर्दशी की संध्या के समय घर की पश्चिम दिशा में खुले स्थान में या घर के पश्चिम में 14 दीपक पूर्वजों के नाम से जलाएं, इससे पितृ दोषों का नाश होता है तथा पितरों के आशीर्वाद से धन-समृद्धि में बढ़ोत्तरी होती है

सोमवार, 5 नवंबर 2018

दिवाली 2018 7 नवंबर लक्ष्मी पूजा मुहूर्त- 17:57 से 19:53

  • दिवाली पर्व तिथि व मुहूर्त 2018

    दिवाली 2018
    7 नवंबर
    लक्ष्मी पूजा मुहूर्त- 17:57 से 19:53
    प्रदोष काल- 17:27 से 20:06
    वृषभ काल- 17:57 से 19:53
    अमावस्या तिथि आरंभ- 22:27 (06 नवंबर)
    अमावस्या तिथि समाप्त- 21:31 (07 नवंबर)

     लक्ष्मी पूजन करना अति शुभफलदाई होगा और मनवांछित फलों की प्राप्ति होगी। घर में कुछ ऐसी तैयारियां हैं जो दीपावली से पूर्व की जाती हैं जिससे मां लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं। आप भी शुभ दीवाली मनाना चाहते हैं तो यूं करें मां लक्ष्मी के स्वागत की तैयारी -

    - दीपावली की साफ-सफाई करते समय जल को व्यर्थ न बहाएं क्योंकि जल लक्ष्मी का रूप हाेता है इसलिए पानी काे गंदा करना या बेमतलब बहाना इसका सीधा अर्थ लक्ष्मी काे ठाेकर मारना है इसलिए जहां भी पानी टपकता देखें उसे यथासंभव बंद करवाएं आपकाे धन लाभ हाेगा।

    - दीपावली से कुछ दिन पूर्व घर की दहलीज में चांदी की तार अवश्य डलवाएं। यह आपकाे सफलता की आेर अग्रसर करेगी।

    - वास्तु सिद्धांत के अनुसार दीपावली पर अपने घर की 27 चीजाें का स्थान परिवर्तन अवश्य करें। इसका उद्देश्य आपके जीवन में आई हुई रूकावटाें काे दूर करना है आैर कमाल की बात है कि हमारे नक्षत्राें की गिनती भी 27 ही हाेती है। यदि आप घर के बर्तन काे उठाकर दूसरी जगह पर रखते हैे ताे उसे भी स्थान परिवर्तन ही माना जाता है। इस तरह 27 वस्तुआें का स्थानातरण करके अपने रूके हुए जीवन काे प्रगतिशील बनाया जा सकता है।

    - वास्तु के हिसाब से घर में कम से कम 3 दिन की सफाई जरूरी है एक दिन दीपावली से पहले, दीपावली के दिन तथा काली चाैदस यानि दीपावली के दूसरे दिन। सफाई करते समय सेंधा नमक पानी में डाल कर पोछा लगाएं तथा घर के प्रत्येक काेने में नमक मिले पानी से साफ-सफाई करें ताकि घर में आने वाली नकारात्मक ऊर्जा काे खत्म किया जा सकें।

    - घर के मुुख्य प्रवेश द्वार पर लाल रंग के सिंदूर से स्वास्तिक का चिन्ह आगे व पीछे दाेनाें तरफ बनाएं ताकि आने आैर जाने वाले दाेनाें काे गणेश भगवान जी का आशीर्वाद मिले। सुख एवं समृद्धि का प्रवेश हाे एवं दुख आैर दरिद्रता घर से बाहर प्रस्थान करें।

    - रंग-बिरंगी रंगाेली से घर को सजाने के लिए पहले ही रंग बना कर रख लें और उन्हें अच्छी धूप दिखाएं। रंगोली से मां लक्ष्मी के स्वागत के लिए उनके चरणाें का स्वरूप इस तरह बनाएं कि वाे घर में आ रहे हाें।

    - आम के पत्ताें का बंधन बना कर मुख्य द्वार पर लगाएं।

    - घर के उत्तर तथा पूर्व की दिशा काे गंगा जल डालकर शुद्ध करें। गणेश जीे का श्री स्वरूप माता लक्ष्मी के दाहिनें तरफ रखें। दाेनाें स्वरूप बैठने की मुद्रा में हाेने चाहिए।

    - विद्युतीय प्रकाश (electronics lights) के स्थान पर प्राकृतिक राेशनी उपयाेग करें। यह वातावरण काे भी स्वच्छ रखेगी तथा कम खर्चे में आपके घर की शाेभा भी बढ़ाएगी। शास्त्रों में दीवाली के शुभ अवसर पर घी के दीए जलाने का वर्णन किया गया है। यदि आपकी सामर्थ्य न हो तो तेल के दीए जलाना भी लाभकारी एवं शुभ होता है। घर के बाहर तथा घर के भीतर चार काेनाें वाला दीया अवश्य जगाएं। राेशनी की ये चार लाै माता लक्ष्मी, भगवान गणेश, कुबेर देवता एवं इन्द्र देवता का प्रतीक मानी गई है।

    - दीपावली के दिन पीपल का पेड़़ (घर काे छाेड़ कर कहीं आेर) लगाने से साै गाय दान करने के बराबर का पुण्य प्राप्त होता है तथा इससे वातावरण भी स्वच्छ हाेता है।

    उपर्युक्त लिखे वास्तु ज्याेतिष आधारित तरीकाें से दीपावली के इस पावन पर्व का स्वागत कीजिए तथा बड़े प्रेम एवं श्रद्धा भाव से इस पर्व काे सबके साथ मिल-बांट कर मनाएं। पुराने गिले-शिकवाें काे भूले आैर कुछ समय भगवान की पूजा-अर्चना एवं ध्यान में गुजारें। फिर देखिएगा कैसे आपका जीवन नई उमंगाें एवं खुशियाें से भर जाएगा आैर हाे जाएगा आपका सच्चा भाग्य-परिवर्तन।
    यह आपको कैसा लगा अबश्य बताएं और अपने परिचित बंधुओं ,मित्रों को शेयर करे

copy disabled

function disabled