बुधवार, 28 जून 2017

#GST पर  पोस्ट ... सबसे आसान और सस्ते भाषा में ...

#GST पर  पोस्ट ... सबसे आसान और सस्ते भाषा में ...
.
#GST आने से ये सब ख़त्म हो जाएगा सदा के लिए ... ::: .... Central Excise Duty, Excise Duty levied under the Medicinal Preparations (Excise Duties) Act, 1955, Additional Customs Duty (CVD), Special Additional Duty of Customs, Central Surcharge and Cess, VAT / Sales Tax, Entertainment tax (other than the tax levied by local bodies), Central Sales Tax, Octroi and Entry Tax, Purchase Tax, Luxury Tax, Taxes on Lottery, State Cesses and Surcharges, Road Permit ...
#GST के अंतर्गत वसूली गयी टैक्स की रकम किसको जाएगा ...
1. राज्य के अंदर लेन - देन व्यापार किया तो :: व्यापारी CGST & SGST दोनों लेगा ग्राहक से, CGST केंद्र सरकार के ख़ाते में जमा कराएगा और SGST राज्य सरकार के ख़ाते में जमा कराएगा ... इससे ग्राहक को कोई सरोकार नहीं वो व्यापारी का काम है ...
2. अंतर्राज्यीय लेन - देन व्यापार किया तो : IGST लगेगा जो की भेजे जाने वाले राज्य पर निर्धारित होगा। केंद्र सरकार द्वारा अंतरराज्यीय व्यापार या वाणिज्य के जरिये माल की आपूर्ति पर एक अतिरिक्त कर लगाने का दो साल की अवधि के लिए प्रस्तावित है। इससे ग्राहक को कोई सरोकार नहीं वो व्यापारी का काम है ...
आइये दो उदाहरण से समझते हैं ...
पहला उदहारण व्यापार करने वालों के लिए :::::: अभी का कर सिस्टम ...
लखनऊ से पंजाब माल भेजने पर :::
दाम = 1000. 00
VAT = 10% = 100.00
कुल दाम = 1100.00
इस माल को पंजाब से हिमाचल भेजा गया।
मुनाफा लगाया = 1000 तो कुल दाम हुआ =2100.00
VAT 10% = 210.00
कुल दाम ग्राहक को = 2310.00
अब यही मामला GST लगने के बाद
लखनऊ से पंजाब माल भेजने पर :::
दाम = 1000. 00
CGST 5% = 50.00
SGST 5% = 50.00
कुल दाम = 1100.00
इस माल को पंजाब से हिमाचल भेजा गया।
मुनाफा लगाया = 1000 तो कुल दाम हुआ =2100.00
IGST = 10 % = 210.00
टैक्स input 210 - 100 = 110
कुल दाम ग्राहक को = 2210.00
ग्राहक को फायदा हुआ रुपये 100 का ..
.
दूसरा उदहारण उत्पादन करने वालों के लिए :::::: अभी का कर सिस्टम ...
उत्पादन लागत = 100000.00
मुनाफा जोड़े 10% = 10000.00
Excise = 12.5% = 13750.00
उत्पादन के बाद दाम = 123750.00
VAT 12% = 15469.75
उत्पादन करने वाले का फाइनल इनवॉइस व्होलसेलर को = 139218.75
व्होलसेलर का मुनाफा 10% = 13921. 80
VAT 10% = 15314.00
दाम रिटेलर को = 168454.65
रिटेलर मुनाफ़ा 10% = 16845.50
VAT 10% = 18530.00
ग्राहक को दाम = 203830.17
अब यही गणित नए GST के अंतर्गत ::
उत्पादन लागत = 100000.00
मुनाफा जोड़े 10% = 10000.00
Excise = 0 % = 0.00
उत्पादन दाम = 110000.00
SGST @5% = 5500.00
CGST @5% = 5500.00
उत्पादन करने वाले का इनवॉइस वैल्यू = 121000.00
मुनाफा 10% = 12100.00
व्होलसेलर को दाम = 133100.00
SGST @5% = 6655.00
CGST @5% = 6655.00
व्होलसेलर की इनवॉइस रिटेलर को = 146410.00
रिटेलर मुनाफ़ा 10% = 14641.00
दाम = 161051.00
SGST @5% = 8053.00
CGST @5% = 8053.00
ग्राहक को दाम = 177157.00
ग्राहक को कुल मुनाफा = 26673.00
अतः एक जुलाई के बाद से जो भी ग्राहक बिल नहीं लेगा वो खुद के नुक्सान का जिम्मेदार होगा ... मांग कर जबरदस्ती बिल लेना हमारे - आपके लिए मुनाफे का सौदा है ... कुछ चोर टाइप व्यापारियों के चक्कर में न पड़ें ... GST का स्वागत करें ...
.
उद्यमी या व्यापारी द्वारा वसूला गया कर जमा कराना उसकी जिम्मेदारी है .. ये वो पहले भी करता आया है .. इससे उपभोक्ता को कोई मतलब नहीं .. 20 लाख से नींचे के व्यापारियों को कोई GST का चक्कर नहीं है .. अतः चाय के खोखे, पान के अड्डे, अण्डा भुर्जी का ठेला, बाटी-चोखा और पकौड़ी की टंकी या सीरी - खरोड़े का ठेला आदि .. इन सबको कोई फर्क नहीं पड़ने वाला .. ये यथावत चलते रहेंगे बिना किसी नुक्सान .. तो GST के नाम पर गरीब के बुरखे के पीछे से छाती कूटन समारोह से भी जाने से बचें .. 75 लाख तक के व्यापारियों को भी पिद्दी से चार return भरने हैं जो कि वो पहले भी करता आया है .. अब ये आसान हो गया है .. सारे टैक्स ऑनलाइन, डेबिट या क्रेडिट कार्ड या NEFT से ही भरे जाँएगे .. बैंक में लाइन लगाने के लिए जाने की जरूरत नहीं .. नगद में कर सिर्फ 2 लाख वार्षिक तक ही भरे जाएंगे ..
.
तो ग्राहकों ... Insist for Bill ... और व्यापारी जी आप भी बिल फाड़िये ... GST से भारत का GDP कम से कम 2% बढ़ेगा .. ख़ुशी ख़ुशी GST में घुस जाइये ..
.

शुक्रवार, 9 जून 2017

क्या ऐमज़ॉन, फ़्लिपकॉर्ट या स्नैपडील ये रिश्ते-नाते , प्यार, अपनापन भी दे पाएँगे ?

1बार मैं अपने अंकल के साथ एक बैंक में गया, क्यूँकि उन्हें कुछ पैसा कही ट्रान्सफ़र करना था।
ये स्टेट बैंक एक छोटे से क़स्बे के छोटे से इलाक़े में था। वहां एक घंटे बिताने के बाद जब हम व हां से निकले तो उन्हें पूछने से मैं अपने आप को रोक नहीं पाया।
अंकल क्यूँ ना हम घर पर ही इंटर्नेट बैंकिंग चालू कर ले?
अंकल ने कहा ऐसा मैं क्यूँ करूँ ?
तो मैंने कहा कि अब छोटे छोटे ट्रान्सफ़र के लिए बैंक आने की और एक घंटा टाइम ख़राब करने की ज़रूरत नहीं, और आप जब चाहे तब घर बैठे अपनी ऑनलाइन शॉपिंग भी कर सकते हैं। हर चीज़ बहुत आसान हो जाएगी। मैं बहुत उत्सुक था उन्हें नेट बैंकिंग की दुनिया के बारे में विस्तार से बताने के लिए। इस पर उन्होंने पूछा अगर मैं ऐसा करता हूँ तो क्या मुझे घर से बाहर निकलने की ज़रूरत ही नहीं पड़ेगी? मुझे बैंक जाने की भी ज़रूरत नहीं?
मैंने उत्सुकतावश कहा, हाँ आपको कही जाने की जरुरत नही पड़ेगी और आपको किराने का सामान भी घर बैठे ही डिलिवरी हो जाएगा और ऐमज़ॉन, फ़्लिपकॉर्ट व स्नैपडील सबकुछ घर पे ही डिलिवरी करते हैं।
उन्होने इस बात पे जो जवाब मुझे दिया उसने मेरी बोलती बंद कर दी।
उन्होंने कहा आज सुबह जब से मैं इस बैंक में आया, मै अपने चार मित्रों से मिला और मैंने उन कर्मचारियों से बातें भी की जो मुझे जानते हैं। मेरे बच्चें दूसरे शहर में नौकरी करते है और कभी कभार ही मुझसे मिलने आते जाते हैं, पर आज ये वो लोग हैं जिनका साथ मुझे चाहिए। मैं अपने आप को तैयार कर के बैंक में आना पसंद करता हुँ, यहाँ जो अपनापन मुझे मिलता है उसके लिए ही मैं वक़्त निकालता हूँ।
दो साल पहले की बात है मैं बहुत बीमार हो गया था। जिस मोबाइल दुकानदार से मैं रीचार्ज करवाता हूं, वो मुझे देखने आया और मेरे पास बैठ कर मुझसे सहानुभूति जताई और उसने मुझसे कहा कि मैं आपकी किसी भी तरह की मदद के लिए तैयार हूँ।
वो आदमी जो हर महीने मेरे घर आकर मेरे यूटिलिटी बिल्स ले जाकर ख़ुद से भर आता था, जिसके बदले मैं उसे थोड़े बहुत पैसे दे देता था उस आदमी के लिए कमाई का यही एक ज़रिया था और उसे ख़ुद को रिटायरमेंट के बाद व्यस्त रखने का तरीक़ा भी !
कुछ दिन पहले मोर्निंग वॉक करते वक़्त अचानक मेरी पत्नी गिर पड़ी, मेरे किराने वाले दुकानदार की नज़र उस पर गई, उसने तुरंत अपनी कार में डाल कर उसको घर पहुँचाया क्यूँकि वो जानता था कि वो कहा रहती हैं।
अगर सारी चीज़ें ऑन लाइन ही हो गई तो मानवता, अपनापन, रिश्ते - नाते सब ख़त्म ही नही हो जाएँगे !
मैं हर वस्तु अपने घर पर ही क्यूँ मँगाऊँ ?
मैं अपने आपको सिर्फ़ अपने कम्प्यूटर से ही बातें करने में क्यूँ झोंकू ?
मैं उन लोगों को जानना चाहता हूँ जिनके साथ मेरा लेन-देन का व्यवहार है, जो कि मेरी निगाहों में सिर्फ़ दुकानदार नहीं हैं।
इससे हमारे बीच एक रिश्ता, एक बन्धन क़ायम होता है !
क्या ऐमज़ॉन, फ़्लिपकॉर्ट या स्नैपडील ये रिश्ते-नाते , प्यार, अपनापन भी दे पाएँगे ?

फिर उन्होने बड़े पते की एक बात कही जो मुझे बहुत ही विचारणीय लगी, आशा हैं आप भी इस पर चिंतन करेंगे....
उन्होने कहां कि ये घर बैठे सामान मंगवाने की सुविधा देने वाला व्यापार उन देशों मे फलता फूलता हैं जहां आबादी कम हैं और लेबर काफी मंहगी है।
अपने भारत जैसे १२५ करोड़ की आबादी वाले गरीब एंव मध्यम वर्गीय बहुल देश मे इन सुविधाओं को बढ़ावा देना आज तो नया होने के कारण अच्छा लग सकता हैं पर इसके दूरगामी प्रभाव बहुत ज्यादा नुकसानदायक होंगे।
देश मे ८०% जो व्यापार छोटे छोटे दुकानदार गली मोहल्लों मे कर रहे हैं वे सब बंद हो जायेगे और बेरोजगारी अपने चरम सीमा पर पहुंच जायेगी।
अधिकतर व्यापार कुछ गिने चुने लोगों के हाथों मे चला जायेगा और बाकी जनता बेकारी की ओर अग्रसर हो जायेगी।
मैं आजतक उनको क्या जबाब दूं ये नही समझ पाया हूं, अगर आप को कोई सटीक जबाब मिले तो मुझसे जरुर शेयर करे।
प्रिय मित्रों, अगर आप इन बातों से सहमत हैं तो इस मेसिज को अपने दोस्तों-रिश्तेदारों और अपने दूसरे जानने वालो के ग्रूप्स में भी शेयर करे तथा इसके दूरगामी परिणामों के बारे मे आपकी राय भी मुझे बताये। आप का
🙏 🙏
सुप्रभातम्

Update & Upgrade Time to Time. समयके साथ चलिये और सफलता पाईये ।

Update & Upgrade Time to Time.
समयके साथ चलिये और सफलता पाईये ।


आज से 5 या 10 साल पहले ऐसी कोई ऐसी जगह नहीं होती थी जहां PCO न हो। फिर जब सब की जेब में मोबाइल फोन आ गया, तो PCO बंद होने लगे.. फिर उन सब PCO वालों ने फोन का recharge बेचना शुरू कर दिया।अब तो रिचार्ज भी ऑन लाइन होने लगा है।

आपने कभी ध्यान दिया है..?

आजकल बाज़ार में हर तीसरी दूकान आजकल मोबाइल फोन की है।
sale, service, recharge , accessories, repair, maintenance की।

अब सब Paytm से हो जाता है.. अब तो लोग रेल का टिकट भी अपने फोन से ही बुक कराने लगे हैं.. अब पैसे का लेनदेन भी बदल रहा है.. Currency Note की जगह पहले Plastic Money ने ली और अब Digital हो गया है लेनदेन।

दुनिया बहुत तेज़ी से बदल रही है.. आँख कान नाक खुले रखिये वरना आप पीछे छूट जायेंगे..।

1998 में Kodak में 1,70,000 कर्मचारी काम करते थे और वो दुनिया का 85% फ़ोटो पेपर बेचते थे..चंद सालों में ही Digital photography ने उनको बाज़ार से बाहर कर दिया.. Kodak दिवालिया हो गयी और उनके सब कर्मचारी सड़क पे आ गए।

आपको अंदाजा है कि आने वाले 10 सालों में दुनिया पूरी तरह बदल जायेगी और आज चलने वाले 70 से 90% उद्योग बंद हो जायेंगे।

चौथी औद्योगिक क्रान्ति में आपका स्वागत है...

Uber सिर्फ एक software है। उनकी अपनी खुद की एक भी Car नहीं इसके बावजूद वो दुनिया की सबसे बड़ी Taxi Company है।

Airbnb दुनिया की सबसे बड़ी Hotel Company है, जब कि उनके पास अपना खुद का एक भी होटल नहीं है।

US में अब युवा वकीलों के लिए कोई काम नहीं बचा है, क्यों कि IBM Watson नामक Software पल भर में ज़्यादा बेहतर Legal Advice दे देता है। अगले 10 साल में US के 90% वकील बेरोजगार हो जायेंगे... जो 10% बचेंगे... वो Super Specialists होंगे।

Watson नामक Software मनुष्य की तुलना में Cancer का Diagnosis 4 गुना ज़्यादा Accuracy से करता है। 2030 तक Computer मनुष्य से ज़्यादा Intelligent हो जाएगा।

2018 तक Driverless Cars सड़कों पे उतरने लगेंगी। 2020 तक ये एक अकेला आविष्कार पूरी दुनिया को बदलने की शुरुआत कर देगा।

अगले 10 सालों में दुनिया भर की सड़कों से 90% cars गायब हो जायेंगी... जो बचेंगी वो या तो Electric Cars होंगी या फिर Hybrid...सडकें खाली होंगी,Petrol की खपत 90% घट जायेगी,सारे अरब देश दिवालिया हो जायेंगे।

आप Uber जैसे एक Software से Car मंगाएंगे और कुछ ही क्षणों में एक Driverless कार आपके दरवाज़े पे खड़ी होगी...उसे यदि आप किसी के साथ शेयर कर लेंगे तो वो ride आपकी Bike से भी सस्ती पड़ेगी।

Cars के Driverless होने के कारण 99% Accidents होने बंद हो जायेंगे.. इस से Car Insurance नामक धन्धा बंद हो जाएगा।

ड्राईवर जैसा कोई रोज़गार धरती पे नहीं बचेगा।जब शहरों और सड़कों से 90% Cars गायब हो जायेंगी, तो Traffic और Parking जैसी समस्याएं स्वतः समाप्त हो जायेंगी...क्योंकि एक कार आज की 20 Cars के बराबर होगी।

*समय के साथ बदलने की तैयारी करो।*
 🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁

HMT *(घडी)*
BAJAJ *(स्कूटर)*
DYNORA *(टीवी)*
MURPHY *(रेडियो)*
NOKIA *(मोबाइल)*
RAJDOOT *(बाईक)*
AMBASDO *( कार)*

👉 मित्रों..इन सभी की गुणवक्ता में कोई कमी नहीं थी फिर भी बाजार से बाहर हो गए.!!
कारण...
*समयके साथ बदलाव*
*नहीं किया.!!*

इसलिए...
व्यक्तिको समयानुसार अपने व्यापार एवं अपने
*स्वभावमें भी बदलाव*
करते रहना चाहिएँ.!!
👉 *Update & Upgrade*
*Time to Time.!!*
समयके साथ चलिये और सफलता पाईये ।
🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁

*SUCCESS MANTRA*
www.sanwariyaa.blogspot.in

copy disabled

function disabled