गुरुवार, 31 जनवरी 2019

बिखरते परिवार , टूटता समाज और दम तोड़ते रिश्ते

*बिखरते परिवार , टूटता समाज और दम तोड़ते रिश्ते.!*

*जरा सोचिए आज ये सब क्यों हो रहा है.?*

*एक कटु सत्य..!!!*

*आजकल माँ-बाप भी जरूरत से ज्यादा लडकियों के घर में हस्तक्षेप करके उसका घर खराब करते हैं!*

*यह मत भूलो कि शादी के बाद असली माँ बाप उसके सास ससुर होते हैं।*

*समाज मे हर दिन नये नये नेताओं का उदय हो रहा है बस स्वार्थ के लिये।*

*धरातल पर न ज्ञान है और ना ही समाज हित की इच्छा।*

*आज जो हालात हैं उसके जिम्मेदार कौन है..?*

*सर्वाधिक ये आधुनिक शिक्षा के नाम पर संस्कार विहीन बच्चे।*

*रिश्ते तो पहले होते थे। अब रिश्ते नही सौदे होते हैं। बस यहीं से सब कुछ गङबङ हो रहा है।*

*किसी भी माँ बाप मे अब इतनी हिम्मत शेष नही बची कि बच्चों का रिश्ता अपनी मर्जी से कर सकें। एक दुसरे को दिखाना जरुरी है।*

*पहले खानदान देखते थे। सामाजिक पकङ और सँस्कार देखते थे और अब ....*

*मन की नही तन की सुन्दरता , नोकरी , दौलत , कार , बँगला।*

*साइकिल , स्कूटर वाला राजकुमार किसी को नही चाहिये । सब की पसंद कारवाला ही है। भले ही इनकी संख्या 10% ही हो ।*

*लङके वालो को लङकी बङे घर की चाहिए ताकि भरपूर दहेज मिल सके और लङकी वालोँ को पैसे वाला लङका ताकि बेटी को काम करना न पङे।*

*नोकर चाकर हो। परिवार छोटा ही हो ताकि काम न करना पङे और इस छोटे के चक्कर मे परिवार कुछ ज्यादा ही छोटा हो गया है।*

*दादा दादी तो छोङो , माँ बाप भी बोझ बन गये हैं। आज परिवार सिर्फ़ मतलब के लिए रह गया.!!*
               
*परिवार मतलब पति पत्नी और बच्चे बस। जब परिवार इतना छोटा है तो फिर समाज को कौन पुछता है..?*

*लङका चाहे 20 हजार महिने ही कमाता हो। व्यापारी लङका भले ही दो लाख महिने कमाता हो पहली पसंद नोकरीपेशा ही होगा।*

*इसका कारण केवल ये है कि नोकरी वाला दूर और अलग रहेगा। नोकरी के नाम पर फुल आजादी मिलेगी , काम का बोझ भी कम। आये दिन होटल मे खाना घुमना।*

*व्यापारी और नोकरीपेशा वालों का समाज से सम्बन्ध भी कम ही मिलेगा ऐसे मे समाज का डर भी नही।*

*सँयुक्त और बङा परिवार सदैव अच्छा होता है। पाँच मे तीन गलत होंगे तो दो तो सही होंगे क्योंकि पाँचो उँगलियाँ बराबर नही होती। लेकिन एक ही है तो सही हो या गलत भुगतो।*

*पहले रिश्तो मे लोग कहते थे कि मेरी बेटी घर के सारे काम जानती है और अब....*

*हमने बेटी से कभी घर का काम नही कराया यह  कहने में शान समझते हैं।*

*आये दिन बायोडाटा ग्रुप खुल रहे हैं। उम्र मात्र 30 से 40 साल। एजुकेशन भी ऐसी कि  क्या कहना..*

*कई डिग्री धारक रोज सैकङों लङके और लङकियों के बायोडाटा आ रहे हैं लेकिन रिश्ते नही हो रहे हैं। इसका कारण एक ही है..*

*इन्हें रिश्ता नही बेहतर की तलाश है। रिश्तों का बाजार सजा है गाङियों की तरह। शायद और कोई नयी गाङी लांच हो जाये। इसी चक्कर मे उम्र बढ रही है। अंत मे सौ कोङे और सौ प्याज खाने जैसा है।*

*अब तो और भी बायोडाटा ग्रुप बन रहे हैं।*

*तलाकशुदा ग्रुप*
*विधवा विधुर ग्रुप*

*अजीब सा तमाशा हो रहा है। अच्छे की तलाश मे सब अधेङ हो रहे हैं।*

*अब इनको कौन समझाये कि एक उम्र मे जो चेहरे मे चमक होती है वो अधेङ होने पर कायम नही रहती , भले ही लाख रंगरोगन करवा लो ब्युटिपार्लर मे जाकर।*

*एक चीज और संक्रमण की तरह फैल रही है। नोकरी वाले लङके को नोकरी वाली ही लङकी चाहिये।*

*अब जब वो खुद ही कमायेगी तो क्यों तुम्हारी या तुम्हारे माँ बाप की इज्जत करेगी.?*

*खाना होटल से मँगाओ या खुद बनाओ*

*बस यही सब कारण है आजकल अधिकाँश तनाव के*

*एक दूसरे पर अधिकार तो बिल्कुल ही नही रहा। उपर से सहनशीलता तो बिल्कुल भी नहीं। इसका अंत आत्महत्या और तलाक।*

*घर परिवार झुकने से चलता है , अकङने से नहीं.।*

*जीवन मे जीने के लिये दो रोटी और छोटे से घर की जरूरत है बस और सबसे जरुरी आपसी तालमेल और प्रेम प्यार की लेकिन.....*

*आजकल बङा घर व बङी गाङी ही चाहिए चाहे मालकिन की जगह दासी बनकर ही रहे।*

*एक गरीब अगर प्यार से रानी बनाकर भी रखे तो वो पहली पसंद नही हो सकती। नोकरी पसँद वालों को इतना ही कहूँगा कि अगर धीरुभाई अंबानी भी नोकरी पसँद करता तो आज लाखों नोकर उसके अधीन नही होते।*

*सोच बदलो....*

*मत भुलो शादी के बाद उसके असली माँ बाप उसके सास ससुर होते हैं। आपके घर तो बस मेहमान थी।*

*कई सास बहू के सामने बेटी की तारीफ करके अपना खुद का घर खुद खराब करती हैं। बेटी कभी भी बहू नही बन सकती। बेटी की चाहत खून के रिश्ते के कारण है लेकिन बहू अजनबी होकर भी आपकी गृहलक्ष्मी भी है , नोकरानी भी है और कुल चालक भी और आपके और आपके बेटे के मध्य सेतू भी। बहू खुश तो परिवार खुश अन्यथा....*

*आजकल हर घरों मे सारी सुविधाएं मौजूद हैं....*
*कपङा धोने की वाशिँग मशीन*
*मसाला पीसने की मिक्सी*
*पानी भरने के लिए मोटर*
*मनोरंजन के लिये टीवी*
*बात करने मोबाइल*
*फिर भी असँतुष्ट...*

*पहले ये सब कोई सुविधा नहीं थी। पूरा मनोरंजन का साधन परिवार और घर का काम था , इसलिए फालतू की बातें दिमाग मे नहीं आती थी।*
*न तलाक न फाँसी*

*आजकल दिन मे तीन बार आधा आधा घँटे मोबाइल मे बात करके , घँटो सीरियल देखकर , ब्युटिपार्लर मे समय बिताकर।*

*मैं जब ये जुमला सुनता हूँ कि घर के काम से फुर्सत नही मिलती तो हंसी आती है। बेटियों के लिये केवल इतना ही कहूँगा की पहली बार ससुराल हो या कालेज लगभग बराबर होता है। थोङी बहुत अगर रैगिँग भी होती है तो सहन कर लो।*

*कालेज मे आज जूनियर हो तो कल सीनियर बनोगे। ससुराल मे आज बहू हो तो कल सास बनोगी।*

*समय से शादी करो। स्वभाव मे सहनशीलता लाओ। परिवार में सभी छोटे बङो का सम्मान करो। ब्याज सहित वापिस मिलेगा।*

*आत्मधाती मत बनो। जीवन मे उतार चढाव आता है। सोचो समझो फिर फैसला लो। बङो से बराबर राय लो। उनके उपर वाह विश्वास रखो।*

*हालांकि आजकल अभिभावक की अहमियत एक चौकीदार से अधिक नही रही। बच्चे बालिग होने तक बस पालो फिर आपका अधिकार खत्म। बच्चों की नजर मे भी और शासन की नजर मे भी। वो चाहे जिससे शादी करें , चाहे जो फैसला लेँ , आप रोकोगे तो जेल हो सकती है.।*

*समाज के लोगों से बस इतना ही निवेदन है कि समाज मे सही उम्र मे शादी हो। उस दिशा मे काम करें। कम खर्चीली हो। धन्ना सेठ करोङो बेवजह शादी मे लुटा देते हैं , उनके अनुसरण मे गरीब पिसते हैं।*

*फोटो माला से परहेज करके घरातल पर समाजहित का काम करें ताकि लोगों के दिलों मे बने रहें।*

*किसी  को मेरी कोई बात बुरी लगी हो तो  क्षमा चाहता हूँ।*

🙏🙏

मंगलवार, 29 जनवरी 2019

आज का पंचांग 29 जनवरी 2019

.                ।। *🕉* ।।
     🚩🌞 *सुप्रभातम्* 🌞🚩
📜««« *आज का पंचांग* »»»📜
कलियुगाब्द.......................5120
विक्रम संवत्......................2075
शक संवत्.........................1940
रवि.............................उत्तरायण
मास..................................माघ
पक्ष..................................कृष्ण
तिथी...............................नवमी
दोप 02.45 पर्यंत पश्चात दशमी
सूर्योदय.........प्रातः 07.07.05 पर
सूर्यास्त........संध्या 06.12.59 पर
सूर्य राशि..........................मकर
चन्द्र राशि..........................तुला
नक्षत्र...........................विशाखा
दोप 03.12 पर्यंत पश्चात अनुराधा
योग.................................वृद्धि
दुसरे दिन प्रातः 05.43 पर्यंत पश्चात ध्रुव
करण..............................गरज
दोप 02.45 पर्यंत पश्चात वणिज
ऋतु..............................शिशिर
दिन............................मंगलवार

🇬🇧 *आंग्ल मतानुसार :-* 
29 जनवरी सन 2019 ईस्वी |

☸ शुभ अंक.............2
🔯 शुभ रंग.............काला

👁‍🗨 *राहुकाल :-*
दोप 03.24 से 04.46 तक ।

🌞 *उदय लग्न मुहूर्त :-*
मकर       06:15:31 08:02:22
कुम्भ       08:02:22 09:35:40
मीन         09:35:40 11:06:37
मेष         11:06:37 12:47:03
वृषभ       12:47:03 14:45:20
मिथुन      14:45:20 16:58:39
कर्क         16:58:39 19:14:28
सिंह         19:14:28 21:25:55
कन्या       21:25:55 23:36:13
तुला         23:36:13 25:50:28
वृश्चिक     25:50:28 28:06:17
धनु          28:06:17 30:11:35

🚦 *दिशाशूल :-*
उत्तरदिशा - यदि आवश्यक हो तो गुड़ का सेवन कर यात्रा प्रारंभ करें।

✡ *चौघडिया :-*
प्रात: 09.54 से 11.16 तक चंचल
प्रात: 11.16 से 12.39 तक लाभ
दोप. 12.39 से 02.01 तक अमृत
दोप. 03.23 से 04.45 तक शुभ
रात्रि 07.45 से 09.23 तक लाभ ।

📿 *आज का मंत्र :-*
|| ॐ वीरभद्राय नमः ||

🎙 *संस्कृत सुभाषितानि :-*
बुद्धिर्यस्य बलं तस्य निर्बुद्धेस्तु कुतो बलम् ।
पश्य सिंहो मदोन्मत्तः शशकेन निपातितः ॥
अर्थात :-
जिसके पास बुद्धि है, उसके पास बल है । पर जिसके पास बुद्धि नहीं उसके पास बल कहाँ ? देखो, बलवान शेर को (चतुर) लोमडी ने कैसे मार डाला (था) !

🍃 *आरोग्यं :*-
*पेट साफ करने का घरेलू उपाय -*

1. भोजनोपरांत 125 ग्राम मट्ठे में 2 ग्राम अजवायन और आधा ग्राम काला नमक मिलाकर खाने से गैस बनना खत्म हो जाता है।
2. उसी तरह एक लहसुन की फांक छीलकर बीज निकाली हुई मुनक्का को नग में लपेटकर, भोजन के बाद चबाकर निगल जाएं। इससे पेट की रुकी हुई वायु तत्काल निकल जाएगी।
3. इसके अलावा अलसी के पत्तों की सब्जी बनाकर खाने से गैस की शिकायत दूर हो जाती है।
4. अदरक के छोटे टुकड़े कर उस पर नमक छिड़ककर दिन में दो-तीन बार उसका सेवन करें। गैस की परेशानी से छुटकारा मिलेगा, शरीर हलका होगा और भूख खुलकर लगेगी।
5. अजवायन दो ग्राम, नमक आधा ग्राम चबाकर खाएं। पेट दर्द और  गैस से आराम मिलेगा। इसके अलावा पानी के साथ हिंगाष्टक चूर्ण खाने से सभी प्रकार वायु विकार दूर होते हैं।

⚜ *आज का राशिफल :-*

🐏 *राशि फलादेश मेष :-*
*(चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, आ)*
राजकीय सहयोग से कार्य पूर्ण होंगे। व्यापार-व्यवसाय मनोनुकूल लाभ देगा। वैवाहिक प्रस्ताव मिल सकता है। आवश्यक वस्तु समय पर नहीं मिलने से खिन्नता रहेगी। निवेश शुभ रहेगा। नौकरी में प्रभाव बढ़ेगा। आय में वृद्धि होगी। समय की अनुकूलता मिलेगी। आलस्य हावी रहेगा। घर में सुख-शांति रहेगी। लाभ होगा।

🐂 *राशि फलादेश वृष :-*
*(ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो)*
भूमि व भवन की खरीद-फरोख्त लाभदायक रहेगी। उन्नति के मार्ग प्रशस्त होंगे। कुसंगति से बचें। कारोबार में वृद्धि होगी। निवेशादि शुभ रहेंगे। रोजगार में वृद्धि होगी। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। किसी बड़े काम में हाथ डाल पाएंगे।

👫 *राशि फलादेश मिथुन :-*
*(का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, ह)*
रचनात्मक कार्य सफल रहेंगे। किसी आनंदोत्सव में भाग लेने का अवसर प्राप्त होगा। प्रसन्नता तथा मनोरंजन के साधन उपलब्ध होंगे। कारोबार लाभदायक रहेगा। भाइयों से सहयोग मिलेगा। कुसंगति से हानि होगी। नौकरी में प्रशंसा प्राप्त होगी। जल्दबाजी न करें। जोखिम व जमानत के कार्य बि‍लकुल न करें।

🦀 *राशि फलादेश कर्क :-*
*(ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो)*
बुरी खबर प्राप्त हो सकती है। मेहनत अधिक होगी। लाभ के अवसर टलेंगे। समय पर बाहर से धन नहीं मिलने से निराशा रहेगी। हल्की हंसी-मजाक करने से बचें। नौकरी में अधिकारी अधिक की अपेक्षा करेंगे। मातहतों का साथ नहीं मिलेगा। थकान रहेगी। व्यवसाय-व्यापार से मनोनुकूल लाभ होगा।

🦁 *राशि फलादेश सिंह :-*
*(मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे)*
सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। घर-बाहर पूछ-परख रहेगी। व्यापार-व्यवसाय मनोनुकूल लाभ देगा। धन प्राप्ति सु्गम होगी। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। नौकरी में सभी काम समय पर होने से प्रशंसा प्राप्त होगी। समय की अनुकूलता का लाभ लें। पारिवारिक चिंताओं में कमी होगी। प्रमाद न करें।

👩🏻‍🦱 *राशि फलादेश कन्या :-*
*(ढो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो)*
पुराने साथियों तथा रिश्तेदारों से मुलाकात सुखद रहेगी। अच्‍छे समाचार प्राप्त होंगे। मान बढ़ेगा। किसी नए उपक्रम को प्रारंभ करने पर विचार होगा। लंबी यात्रा की इच्छा रहेगी। व्यापार-व्यवसाय से मनोनुकूल लाभ होगा। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। जल्दबाजी न करें।

⚖ *राशि फलादेश तुला :-*
*(रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते)*
नवीन वस्त्राभूषण पर व्यय होगा। परीक्षा व साक्षात्कार आदि में सफलता प्राप्त होगी। यात्रा मनोनुकूल लाभ देगी। नए काम मिल सकते हैं। कार्य से संतुष्टि रहेगी। प्रसन्नता तथा उत्साह का वातावरण बनेगा। कारोबार लाभदायक रहेगा। निवेश व नौकरी मनोनुकूल लाभ देंगे। जल्दबाजी में कोई निर्णय न लें। प्रमाद से बचें।

🦂 *राशि फलादेश वृश्चिक :-*
*(तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू)*
फालतू खर्च होगा। शत्रुओं से सावधानी आवश्यक है। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रहेगा। कोई भी निर्णय लेने में जल्दबाजी न करें। वाणी पर नियंत्रण रखें। काम में मन नहीं लगेगा। व्यापार-व्यवसाय लाभदायक रहेगा। आय में निश्चितता रहेगी। परिवार में सुख-शांति बनी रहेगी। इच्‍छाशक्ति प्रबल करें।

🏹 *राशि फलादेश धनु :-*
*(ये, यो, भा, भी, भू, धा, फा, ढा, भे)*
डूबी हुई रकम प्राप्त हो सकती है। यात्रा मनोनुकूल रहेगी। नए काम हाथ में आएंगे। कारोबारी वृद्धि से प्रसन्नता रहेगी। समय की अनुकूलता का लाभ लें। मातहतों का सहयोग प्राप्त होगा। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। अज्ञात भय रहेगा। पारिवारिक सहयोग से प्रसन्नता रहेगी। जल्दबाजी न करें।

🐊 *राशि फलादेश मकर :-*
*(भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी)*
योजना फलीभूत होगी। कार्यपद्धति में सुधार होगा। कार्यसिद्धि से प्रसन्नता रहेगी। मेहनत सफल रहेगी। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। मान-सम्मान मिलेगा। कारोबार मनोनुकूल लाभ देगा। शेयर मार्केट में जल्दबाजी से बचें। विवेक का प्रयोग करें। भाग्य का साथ मिलेगा। वरिष्ठ व्यक्तियों का मार्गदर्शन मिलेगा।

🏺 *राशि फलादेश कुंभ :-*
*(गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा)*
अध्यात्म में रुचि रहेगी। किसी धार्मिक आयोजन में भाग लेने का मौका हाथ आएगा। सुख-शांति बने रहेंगे। कारोबार मनोनुकूल चलेगा। मित्रों का सहयोग लाभ में वृद्धि करेगा। लंबित कार्य पूर्ण होंगे। निवेश शुभ रहेगा। प्रसन्नता का वातावरण रहेगा। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। प्रमाद न करें।

🐠 *राशि फलादेश मीन :-*
*(दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची)*
अज्ञात भय रहेगा। अनहोनी की आशंका रहेगी। वाहन, मशीनरी व अग्नि आदि के प्रयोग में सावधानी रखें। वाणी में हल्के शब्दों के प्रयोग से बचें। किसी भी व्यक्ति के उकसाने में न आएं। कारोबार से लाभ होगा। निवेश में जल्दबाजी न करें। आय बनी रहेगी। थकान व कमजोरी रह सकती है।

☯ *आज मंगलवार है अपने नजदीक के मंदिर में संध्या 7 बजे सामूहिक हनुमान चालीसा पाठ में अवश्य सम्मिलित होवें |*

।। 🐚 *शुभम भवतु* 🐚 ।।

🇮🇳🇮🇳 *भारत माता की जय* 🚩🚩

उठता लहंगा,बढ़ती इज्जत (??)

*उठता लहंगा,बढ़ती इज्जत (??)*

सन 1980 तक लड़कियाँ कालेज में साड़ी पहनती थी या फिर सलवार सूट। इसके बाद साड़ी पूरी तरह गायब हुई और सलवार सूट के साथ जीन्स आ गया। 2005 के बाद सलवार सूट लगभग गायब हो गया और इसकी जगह Skin Tight काले सफेद स्लैक्स आ गए। फिर *2010 तंक लगभग पारदर्शी स्लैक्स आ गए जिसमे आंतरिक वस्त्र पूरी तरह स्प्ष्ट दिखते हैं।*
फिर सूट, जोकि पहले घुटने या जांघो के पास से 2 भाग मे कटा होता था, वो 2012 के बाद कमर से 2 भागों में बंट गया और फिर

2015 के बाद यह सूट लगभग ऊपर नाभि के पास से 2 भागो मे बंट गया जिससे कि लड़की या महिला के नितंब पूरी तरह स्प्ष्ट दिखाई पड़ते हैं और  2 पहिया गाड़ी चलाती या पीछे बैठी महिला अत्यंत विचित्र सी दिखाई देती है, मोटी जाँघे, दिखता पेट।
*आश्चर्य की बात यह है कि यह पहनावा कालेज से लेकर 40 वर्ष या ऊपर उम्र की महिलाओ में अब भी दिख रहा है। बड़ी उम्र की महिलायें छोटी लड़कियों को अच्छा सिखाने की बजाए उनसे बराबरी की होड़ लगाने लगी है। नकलची महिलाए।*
अब कुछ नया हो रहा 2018 मे,  स्लैक्स  ही कुछ Printed या रंग बिरंगा सा  हो गया और सूट अब कमर तक आकर समाप्त हो गया  यानि उभरे हुए नितंब अब आपके दर्शन हेतु प्रस्तुत है.
साथ ही कालेजी लड़कियों या बड़ी महिलाओ मे एक नया ट्रेंड

और आ गया,  स्लैक्स अब पिंडलियों तंक पहुच गया, कट गया है नीचे से, इस्लाममिक पायजामे की तरह
और
*सबसे बड़ी बात यह है कि यह सब वेशभूषा केवल हिन्दू लड़कियों/महिला ओ में ही दिखाई पड़ रही है.*
( हिन्दू पुरुषों की वेशभूषा में पिछले 40 वर्ष मे कोई उल्लेखनीय परिवर्तन नही हुआ) जबकि इसके उलट
*मुस्लिम लड़कियाँ तो अब Mall जाती है, बड़े होटलों में, सामाजिक पार्टियों में जाती है, तो पूरा ढका हुआ बुर्का या सिर में चारो तरफ लिपटे कपड़े के साथ दिखाई पड़ती है।*

*हिन्दू लड़कियाँ /महिलायें जितना अधिक शरीर दिखाना चाह रही, मुस्लिम महिलायें उतना ही अधिक पहनावे के प्रति कठोर होते जा रही।*

कपिल के कॉमेडी शो में मंच पर आई एक VIP मेहमानों  में हिन्दू मुस्लिम महिलाओं की वेश-भूषा में यह स्पष्ट अंतर देखा जा सकता था।
पहले पुरुष साधारण या कम कपड़े पहनते थे, नारी सौम्यता पूर्वक अधिक कपड़े पहनती थी, पर अब टीवी सीरियलों, फिल्मों की चपेट में आकर हिन्दू नारी के आधे कपड़े स्वयं को Modern बनने में उतर चुके हैं।

यूरोप द्वारा प्रचारित नंगेपन के षडयंत्र की सबसे आसान शिकार, भारत की मॉडर्न हिन्दू महिलाए है, जो फैशन के नाम पर खुद को नंगा करने के प्रति वेहद गंभीर है, पर उन्हें यह ज्ञात नहीं कि वो जिसकी नकल कर इस रास्ते पर चल पड़ी है, उनको इस नंगापन के लिए विज्ञापनों में करोड़ो डॉलर मिलते है।
*पहनावे में यह बदलाव न पारसी महिलाओं में आया न मुस्लिम महिलाओं में आया, यह बदलाव सिर्फ और सिर्फ हिंदू महिलाओं में ही क्यों आया है ...? जरा इस पर विचार कीजियेगा।*

कल्याण - नारी अंक, गीताप्रेस अवश्य पढ़ें।
(जैसा प्राप्त हुआ वैसा प्रेषित किया)
🙏🙏

रविवार, 27 जनवरी 2019

नेहरू की गलतिया जो देशको महंगी पडी

नेहरू की गलतिया जो देशको महंगी पडी

नेपाल आज भारतका हिस्सा होता

1951 में नेपालके तत्कालीन महाराजा ' ञिभुवन ' ने नेहरूसे कहा की वो नेपाल का विलय भारत में करवानेको तैयार है, आप चाहें तो नेपाल भारत का हिस्सा बन सकता हैं, लेकीन दुर्भाग्य से नेहरू ने उनका ऑफर ठुकरा दिया.

( संदर्भ- Rediff News - )

( संदर्भ - The Hindu - )

➖➖➖➖➖➖➖

बलुचिस्तान आज भारत में होता

1948 में बलुचिस्तानके नवाब ' खान ' ने बलुचिस्तानका भारत में विलय कर लेने की बात नेहरू से कही और अॅसेशन लेटर बिनशर्त नेहरू को भेजा, बदकिस्मतीसे नेहरू ने ये ऑफर ठुकराया. ईसके कुछ ही दिनों बाद पाकिस्तानने बलुचिस्तान पर जबरदस्ती कब्जा किया.

( संदर्भ- Dailymail England - )

➖➖➖➖➖➖➖

पाकिस्तानका ग्‍वादर बंदरगाह आज भारतका होता...

ओमान ने 1947 में ग्‍वादर बंदरगाह भारत को लेने की पेशकश की थी लेकिन नेहरूने ईसे इन्कार कर दिया. बादमे ओमान ने ग्‍वादर बंदरगाह पाकिस्‍तान को बेच दिया. आज पाकिस्‍तान ने ग्‍वादर बंदरगाह चिन को दिया है, जहाँसे चीन भारतकी नौदल पर नजर रखता है, हाल ही में पाकिस्‍तान ने भारतीय व्यापारी कुलभुषन जाधव को ग्‍वादर बंदरगाह पर ही पकडा था.

( संदर्भ- Dailyo News - )

➖➖➖➖➖➖➖➖

भारत का कोको आइसलैंड चिन के पास गया

1950 में नेहरू ने भारत का कोलकाता से नजदीक ' कोको द्वीप समूह जो अंदमान का हिस्सा है उसे बर्मा को गिफ्ट दे दिया.

बाद में बर्मा ने उसे चीन को दे दिया, जहाँ से आज चीन द्वारा भारतकी मरींन्स पर हेरगीरी होती है. आज गुगल मैप में कोको द्वीप समूह देखने पर चिन का मिलट्री बेस तथा हवाई धावपट्टी साफ दिखती है.

( Google Map location of COCO Iceland - )

( संदर्भ - )

( संदर्भ - )

➖➖➖➖➖➖➖

काबू व्हेली भारतसे अलग हो गई

1954 को मणिपुर प्रांत की काबू व्हेली नेहरू ने पार्लमेंट और मणिपुरी लोगों के विरोध के बावजुद बर्मा को गिफ्ट कर दी, यह लगभगा 11000 वर्ग कि.मी बडी और कश्मीर जैसी खूबसरत है, एक समय में 'Jewel of Manipur ' के नामसें काबू व्हेली जानी जाती थी, दुर्भाग्यसे आज हम ईसे गवां चुके हैं.

( संदर्भ - )

➖➖➖➖➖➖➖

हैदराबाद की जगह आज दक्षिण पाकिस्तान होता.

हैदराबाद के निज़ाम हैदराबाद को पाकिस्तानका हिस्सा बनाना चाहते थे. एक बार नेहरु विदेश गए, सरदार पटेल ने सेना के पोलो मिशन ( हैदराबाद मुक्ती संग्राम ) के तहत हैदराबाद पर चडाई की और 13 सितंबर 1948 को हेदराबाद भारत में मिलाया.

उसी वक्त नेहरु वापस आ रहे थे अगर वो आते तो विलय न होता इसलिए पटेल ने नेहरु के विमान को उतरने न देने का हुक्म दिया, निजाम ने विलय पे हस्ताक्षर किए, उसके बाद नेहरु का विमान उतारा गया. पटेल ने नेहरु को फ़ोन किया और कहा ” हैदराबाद का भारत में विलय ” ये सुनते ही नेहरु ने गुस्से में फ़ोन वही पटक दिया था.

( संदर्भ - )

➖➖➖➖➖➖➖

आज भारत UN का स्थायी मेंबर होता.

1950 में अमेरिका ने भारत को सुरक्षा परिषद ( United Nations ) में स्थायी सदस्य के तौर पर शामिल होने को कहा, लेकिन भारत की बजाय नेहरू ने चीन को UN में लेने की सलाह दे डाली.

अमरिका और रशिया ने 1955 में और एक बार नेहरू को UN में आने की पेशकश की लेकीन बदकिस्मतीसे दुसरी बार भी नेहरु ने उनकी पेशकश ठुकरा दी.

आज चीन भारत के कई प्रस्ताव UN में नामंजूर कर चुका है. हाल ही उसने दहशतगर्द मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित करने का भारतीत प्रस्ताव वीटो कर उसे बचाया है.

( संदर्भ- Washington Post - https )

( संदर्भ - )

➖➖➖➖➖➖➖

सरकारी विमानोंका दुरुपयोग -

एक बार नेहरू भोपाल दौरे पर थे. राजभवन में यह पता चला कि नेहरू की फेवरेट ब्रांड 555 सिगरेट भोपाल में नहीं मिल रही है. फिर भोपाल से इंदौर एक स्पेशल विमान भेजा गया, इंदौर एयरपोर्ट पर सिगरेट के कुछ पैकेट पहुंचाए गए और विमान सिगरेट के पैकेट लेकर वापस भोपाल लौट आया, इस घटना का जिक्र मप्र राजभवन की वेबसाइट पर है.

( संदर्भ- Dainik Bhaskar - )

➖➖➖➖➖➖➖

विदेश निती पर भारी मुस्लिम तुष्टिकरन की राजनिती

महान ज्यू सायंटिस्ट आईनस्टाइन ने पंडित नेहरू को एक खत लिखा था जिसमें ज्यु लोगों पर हो रहे अत्याचारों का जिक्र कर ईजरायल के स्वतंत्र देश बनने को सपोर्ट करने को कहा... लेकिन मुस्लिमोंके दबाव में नेहरू ने करीब एक महीने तक खत का जवाब नहीं दिया, फिर जवाब देते हुए नेहरु ने स्वतंत्र ईजरायल को सपोर्ट करनेकी कि मांग को नकार दिया और UN में इजरायल के स्वतंत्र देश बनने के खिलाफ वोटिंग की. ऐसे तुष्टिकरन की राजनिती करके ईजरायल को हमने दुर किया, ईजरायल से मिलट्री तथा कृषी तंञज्ञान पाने के बेहतरीन मौके हमने गवा दिये.

( संदर्भ -Indian Express- )

( संदर्भ- The Guardian - )

➖➖➖➖➖➖➖

पविञ हिंदू तिर्थस्थान कैलाश मानसरोवर खो देना

1962 में चिन के हाथों मिली पराजय का कारण जानने के लिए भारत सरकार द्वारा गठित समिति जिसमे लेफ्टिनेंट जनरल हेंडरसन ब्रुक्स और मिलिट्री कमांडर ब्रिगडियर पी. एस. भगत थे उन्होंने भी नेहरु और उनकी कायर नितीयोंको 1962 के युद्ध के हार का जिम्मेदार ठहराया.

युद्ध हार स्वरूप हमारा लगभग 14000 वर्ग किमी भाग चीन ने ले लिया. इसमें कैलाश पर्वत, मानसरोवर और अन्य स्थान आते हैं. नेहरू पर सवाल उठने लगे तब उन्‍होंने जवाब देते हुए कहा था," उस प्रदेश का देश के लिए कोई महत्‍व नहीं है क्‍योंकि वहां घास का एक तिनका भी नहीं उगता ! "

( संदर्भ - Zee News - )

( संदर्भ- Jagran - )

➖➖➖➖➖➖➖

न्यूक्लियर सप्लायर्स ग्रुप ( NSG ) का भारत सदस्य होता

भारत की आजादी के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति जॉन एफ केनेडी ने भारत को न्युक्लियर टेस्ट के लिए मदद का प्रस्ताव दिया था. लेकिन प्रधानमंत्री नेहरु ने उस ऑफर को ठुकरा दिया था. यदि भारत ने वह प्रस्ताव स्वीकार कर लिया होता तो भारत न्युक्लियर टेस्ट करने वाला पहला एशियाई देश बन जाता. ईसके साथ ही भारत NSG मेंबर आरामसे बन जाता. आज आजादी के 70 साल बाद भी चायना के विरोध के बावजुद हमको दुनिया भर में घूमकर NSG के लिए लॉबिंग करनी पड़ रही है.

( संदर्भ - NDTV - )

( संदर्भ - Zee News - )

➖➖➖➖➖➖➖

कश्मिर प्राॅब्लेम व धारा 370.

अक्तूबर 1947 को पाकिस्तानी कबाइली सेना कश्मिर में घुस गई, सरदार पटेल ने कश्मिर के महाराजा को मदत के बदले कश्मिर भारत मे विलय करने की शर्त रखकर कश्मिर में भारतीय सेना भेजी गई. जब भारत की सेनाएं पाकिस्तानी सेना को खदेड़ हि रही थीं के नेहरू ने बिचमें रेडियोपर युद्ध विराम घोषित कर सैन्य वापस बुला लिया और रेडियो पर कहा की इसके बाद UN कश्मिर का मुद्दा सुलझाएगा..! ईस हरकत के कारण कश्मीर का एक तिहाई भाग ( POK ) पाकिस्तानी सेना के पास रह गया.

ईसके बाद नेहरू ने संविधान में धारा 370 जुड़ दी, इसमें कश्मीर के लिए अलग संविधान हो गया, जिससे कश्मीर जाने के लिए परमिट की अनिवार्यता हो गई तथा गैर कश्मीर लोगों को कश्मीरमें प्राॅपर्टी खरिदनेपर रोक लग गई.

( संदर्भ- Rediff News - )

( संदर्भ- Frontline - )

➖➖➖➖➖➖➖➖
सारे संदर्भ की लिंक :

https://www.dailyo.in/politics/chabahar-gwadar-port-india-pakistan-china-ties-cpec-afghanistan/story/1/11256.html?fbclid=IwAR1j1G9CJxVOYKOy2eixRIFfUYJGP6YoqF_kaepHMecCTZMiwN_-T3PSmZY

https://fas.org/irp/world/china/facilities/coco.htm?fbclid=IwAR0RFBFORUMh3lSDkojU_v4_-x_1IGibGGmn5fnSo94XFAu9yTBfbQ1gJeg

https://www.google.com/maps/place/14%C2%B008'26.3%22N+93%C2%B022'05.8%22E/@14.1318895,93.3886032,13.35z/data=!4m6!3m5!1s0!7e2!8m2!3d14.140641!4d93.368274

http://e-pao.net/epSubPageExtractor.asp?src=news_section.opinions.To_the_President_of_India_on_matter_of_Kabo_Valley&fbclid=IwAR1dc1Z4aHXSa2vhdc-py0OhqXjfpQGT_WoTDI9OC7gntD2rMkZnKF3J1IY

https://www.wilsoncenter.org/publication/not-the-cost-china-india-and-the-united-nations-security-council-1950?fbclid=IwAR3GRHZVGgmUBOxbzDajnoxIL7n-GyoKAR8gWePLA2pq9RhRHV44K08pShY

https://m.rediff.com/news/2001/jun/12inter.htm?fbclid=IwAR11s5UkWh9Dqdli6bJmvjNkH4sUbd5JpzyzI37M_AbNhH4KGnhtGS2uMJ0

https://www.dailymail.co.uk/indiahome/indianews/article-3797114/amp/How-India-Radio-changed-fate-Balochistan.html?fbclid=IwAR1dc1Z4aHXSa2vhdc-py0OhqXjfpQGT_WoTDI9OC7gntD2rMkZnKF3J1IY

copy disabled

function disabled