शनिवार, 27 अक्तूबर 2012

सफ़ेद दाग के कुछ घरेलु उपाय :

सफ़ेद दाग और चकते की बीमारी

ल्यूकोडर्मा विटिलिगो के नाम से भी जानी जाती है
ये बहुत ही दुर्लभ बीमारी है सफ़ेद दाग और चकते इसके लक्षण है सफ़ेद दाग और चकते ल्यूकोडर्मा वितिलिगा के नाम से जाने जाते है जब ये बिना किसी बीमारी के होते है तो इसे विटिलिगो कहा जाता है

सफ़ेद दाग में ध्यान में रखने योग्य बाते :

१.
  तनाव से बचे और आराम करे
२. नहाते समय अत्यधिक साबुन के प्रयोग से
  बचे |
३. सुबह के समय २० से ३० मिनिट धुप का सेवन (धुप स्नान) करे

४. कॉस्मेटिक प्रसाधन जैसे क्रीम और पाउडर के प्रयोग बंद करदे

५. खाने में लोहतत्व युक्त पदार्थ जैसे मांस
, अनाज, फलीदार सब्जियां, दालें, व हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन करे
६. खट्टे फल
, इमली, मछली, समुद्री जीव इत्यादि का सेवन न करे
७. सफ़ेद दाग के इलाज के दौरान नमक और खारयुक्त पदार्थों का सेवन पूरी तरह बंद रखे


सफ़ेद दाग के कुछ घरेलु
उपाय  :
१.
बाबची और इमली ke beej बराबर बराबर मात्रा में पानी में ३-४ दिन भिगोकर रखे फिर छाया में सुखा दे | अब इसका पेस्ट बनाकर सफ़ेद दाग पर नियमित लगाये |
२. रातभर ताम्बे के जग में रखे गए जल का सेवन करे
|
३. अदरख का जूस सफ़ेद दाग में रक्तसंचार बढ़ाने एवं शक्तिवर्धक होता है

४.
सफ़ेद दाग पर अदरख की पत्तियों को घिस कर लगाना लाभदायक रहता है
५. बथु की कढी खाए और बथुए का रस
सफ़ेद दाग पर दिन में दो से तीन बार लगाये
६. एक महीने तक रोजाना अंजीर खाएं

७. सूखे अनार की पत्तियों को छाया में सुखाकर चूर्ण बनाकर छान ले
| सुबह शाम ताजा पानी के साथ ८ ग्राम चूर्ण ले
8. ल्यूकोडर्मा से रक्षा के लिए रोजाना अखरोट खाएं
९.
नीम की पत्तियां, नीम के फुल, नीम की निम्बोलियां सुखाकर तीनों को बराबर बराबर मात्रा मिलाकर चूर्ण पावडर बनाले | १ चम्मच पानी के साथ नियमित ले|
१०. रिजका और खीर ककड़ी का रस १००-१०० ग्राम मात्रा में मिलाकर सुबह शाम कुछ महीनों तक नियमित सेवन करे

११. हरड का पावडर और लसन का रस मिलाकर सफ़ेद दाग पर लगायें

१२.
  छाछ पीजिये, ध्यान लगाना सफ़ेद दाग के इलाज में बहुत ही फायदेमंद है
१३. काले चने का पेस्ट बनाकर प्रभावित क्षेत्र पर चार महीनो तक लगाये



copy disabled

function disabled