शुक्रवार, 10 फ़रवरी 2017

आज का पंचांग एवं राशिफल

.        ।। 🕉 ।।
    🌞 *सुप्रभातम्* 🌞
««« *आज का पंचांग* »»»
कलियुगाब्द.................5118
विक्रम संवत्...............2073
शक संवत्..................1938
मास............................माघ
पक्ष............................शुक्ल
तिथी........................चतुर्दशी
प्रातः 07.30 पर्यंत पश्चात पूर्णिमा
रवि......................उत्तरायण
सूर्योदय............07.02.55 पर
सूर्यास्त............06.20.39 पर
तिथि स्वामी..................कलि
नित्यदेवी...............भगमालिनी
नक्षत्र............................पुष्य
प्रातः 09.39 पर्यंत पश्चात अश्लेशा
योग.........................सौभाग्य
रात्रि 12.28 पर्यंत पश्चात शोभन
करण.........................वणिज
दुसरे दिन प्रातः 07.30 पर्यंत पश्चात विष्टि
ऋतु...........................बसंत
दिन........................शुक्रवार

🇬🇧 *आंग्ल मतानुसार* :-
10 फरवरी सन 2017 ईस्वी ।

☸ शुभ अंक................2
🔯 शुभ रंग.............नीला

👁‍🗨 *राहुकाल* :-
प्रात: 11.16 से 12.40 तक ।

🚦 *दिशाशूल* :-
पश्चिमदिशा - यदि आवश्यक हो तो जौ का सेवन कर यात्रा प्रारंभ करें।

✡ *चौघडिया* :-
प्रात: 08.28 से 09.52 तक लाभ
प्रात: 09.52 से 11.16 तक अमृत
दोप. 12.40 से 02.04 तक शुभ
सायं 04.52 से 06.16 तक चंचल
रात्रि 09.28 से 11.04 तक लाभ ।

🎶 *आज का मंत्र* :-
।।ॐ गोविन्दाय नम: ।।

📢 *संस्कृत सुभाषितानि* --
*अष्टावक्र गीता - द्वितीय अध्याय :-*
अहो भुवनकल्लोलै-
र्विचित्रैर्द्राक् समुत्थितं।
मय्यनंतमहांभोधौ
चित्तवाते समुद्यते॥ २-२३॥
अर्थात --
आश्चर्य, मुझ अनंत महासागर में चित्तवायु उठने पर ब्रह्माण्ड रूपी विचित्र तरंगें उपस्थित हो जाती हैं॥२३॥

🍃 *आरोग्यं* :-
नेत्र ज्योति बढ़ाने के लिएः
1. इन्द्रवरणा (बड़ी इन्द्रफला) के फल को काटकर अंदर से बीज निकाल दें। इन्द्रवरणा की फाँक को रात्रि में सोते समय लेटकर (उतान) ललाट पर बाँध दें। आँख में उसका पानी न जाये,यह सावधानी रखें। इस प्रयोग से नेत्रज्योति बढ़ती है।

2. त्रिफला चूर्ण को रात्रि में पानी में भीगोकर,सुबह छानकर उस पानी से आँखें धोने से नेत्रज्योति बढ़ती है।

3. जलनेति करने से नेत्रज्योति बढ़ती है। इससे आँख, नाक, कान के समस्त रोग मिट जाते हैं।

⚜ आज का राशिफल :-

🐏 *राशि फलादेश मेष* :-
जीवनसाथी के स्वास्‍थ्य की चिंता रहेगी। कार्यों में बाधा आएगी। व्यापार-व्यवसाय ठीक चलेगा। लाभ के अवसर बढ़ेंगे। अस्वस्थता रहेगी।
                          
🐂 *राशि फलादेश वृष* :-
शुभ समाचार मिलेंगे। मान-सम्मान बढ़ेगा। शत्रु परास्त होंगे। दुष्ट लोगों से दूर रहें। विरोधी षड्यंत्र करेंगे। कई दिनों के रुके कार्य होने के अवसर हैं।
                     
👫 *राशि फलादेश मिथुन* :-
पराक्रम से विजय मिलेगी। मान-सम्मान बढ़ेगा। शोक समाचार मिल सकता है। यात्रा हो सकती है। निवेश के लिए समय ठीक है।
              
🦀 *राशि फलादेश कर्क* :-
मानसिक क्लेश हो सकता है। व्यय की अधिकता रहेगी। शत्रु सक्रिय रहेंगे। यात्रा में दुर्घटना हानि से बचना होगा। व्यापार-व्यवसाय ठीक रहेगा।
         
🦁 *राशि फलादेश सिंह* :-
रुका हुआ धन वापस आएगा। यात्रा लाभदायक होगी। शत्रु परास्त होंगे। लाभ के अवसर बनेंगे। शुभ समाचार मिलेंगे। घरेलू उलझनों को अनदेखा न करें।
                 
👸🏻 *राशि फलादेश कन्या* :-
संतान पक्ष की चिंता रहेगी। कीमती वस्तु समय पर नहीं मिलेगी। व्यापार-व्यवसाय धीमी गति से चलेगा। निवेश में सतर्कता बरतना होगी।
                      
⚖ *राशि फलादेश तुला* :-
दुर्घटना से बचें। अज्ञात भय, चिंता होगी। धार्मिक यात्रा, दान-पुण्य मे खर्च होगा। सरकारी कार्यों में गति आएगी। लाभ के अवसर बढ़ेंगे।
                  
🦂 *राशि फलादेश वृश्चिक* :-
वाहन-मशीनरी का प्रयोग सावधान से करें। विवाद इत्यादि से दूर रहें। जोखिम-जमानत के कार्यों में सावधानी बरतें। शत्रु परास्त होंगे।
                       
🏹 *राशि फलादेश धनु* :-
जीवनसाथी से सुख तथा लाभ मिलेगा। प्रसन्नता बढ़ेगी। व्यापार-व्यवसाय तथा निवेश से लाभ मिलेगा। यात्रा होगी। आय से व्यय अधिक होंगे।
                           
🐊 *राशि फलादेश मकर* :-
संपत्ति का कार्यों से लाभ होगा। व्यापार-व्यवसाय निवेश के कार्यों से लाभ होगा। नौकरीपेशा से अधिकारी प्रसन्न रहेंगे। यात्रा लाभकारी होगी।
                     
🏺 *राशि फलादेश कुंभ* :-
मान-सम्मान बढ़ेगा। मेहमान आएंगे। बौद्धिक कार्यों में सफलता मिलेगी। शत्रु पर विजय मिलेगी। दुष्ट जनों से हानि होगी। व्यापार लाभप्रद रहेगा।
                  
🐬 *राशि फलादेश मीन* :-
चारों तरफ विरोध होगा। कलह-विवाद होगा। शत्रु परेशान करेंगे। व्यापार-व्यवसाय ठीक न रहेगा। निवेश न करें। शत्रुओं से सावधान रहें।
                  
☯ आज का दिन सभी के लिए मंगलमय हो ।

।।  🐚 *शुभम भवतु* 🐚 ।।

🇮🇳🇮🇳 *भारत माता की जय* 🚩🚩

copy disabled

function disabled