रविवार, 7 अगस्त 2011

हर धड़कन में एक राज़ होता है


हर धड़कन में एक राज़ होता है
हर बात को बताने का एक अंदाज़ होता है
जब तक ठोकर न लगे बेवफाई की
हर किसी को अपने प्यार पर नाज़ होता है .......

copy disabled

function disabled