रविवार, 1 जनवरी 2012

जनवरी 2012 : पं . केवल आनंद जोशी

पं . केवल आनंद जोशी
(kajoshi46@gmail.com )
मेष (ARIES):- महीने के पूर्वार्द्ध में सभी प्रकार के उत्पात और झगड़े विवाद आदि शांत होंगे। सौभाग्य और श्रेष्ठता के प्रमाण में आप खरे उतरेंगे। किसी भी दुर्घटना का आभास पहले ही मिल जाएगा। समय रहते ही विचारे हुए काम बन जाने की संतुष्टि होगी। स्मृति और याददाश्त की वृद्धि होगी। लेखन स्वाध्याय में मन लगेगा। किसी नई युक्ति और तकनीक को अपनाने से चालू व्यापार में भी मुनाफा होने लग जाएगा। महीने का उत्तरार्द्ध और भी व्यस्तता बढ़ाएगा। वैवाहिक जीवन अथवा दाम्पत्य जीवन में असंतोष पैदा होगा। साझे व्यापार में पृथक होने की नौबत सकती है। पुराने ऋण या रोग से फिर दवा - दारू का खर्च बढ़ सकता है। समय की मांग और जरूरत किसी किसी प्रकार पूरी हो जाएगी।

वृष (TAURUS):- कर्मनिष्ठ और व्यवसायकुशल महानुभावों के लिए इस महीने का पूर्वार्ध अनेक प्रकार की खुशियों से ओत प्रोत रहेगा। संतान से प्रसन्नता मिलेगी। परिवार के सदस्यों के भाग्योदय से विरोधी और प्रतिद्वंद्वी जलन करेंगे। रचनात्मक तथा बौद्धिक आजीविका वाले महानुभाव इस मास के पूर्वार्ध में जहां वरिष्ठ अधिकारियों की कृपा प्राप्त करेंगे वहां कुछ विशिष्ट पद और सम्मान भी सुयोग्य व्यक्तियों को प्राप्त होगा। महीने के मध्य भाग में दाम्पत्य सु , खभाव संबंधी गतिविधियों में सक्रियता आएगी। छिटपुट कारोबार या व्यापार आदि से वांछित लाभ की प्रसन्नता होगी। लंबित पड़े हुए कार्य को पूरा करने में आसानी होगी। जीवन की समस्याएं एक एक करके ओझल होती हुई प्रतीत होंगी।


मिथुन (GEMINI):- इस महीने के पूर्वार्ध में शरीर की आंतरिक स्थिति ठीक रहेगी। दर्द और पीड़ा से राहत मिलेगी। कामकाज में कुछ आराम मिलने से स्वास्थ्य पर अच्छा असर पड़ेगा। राजनीति और समाज कार्य से जुड़े महानुभाव कुछ असंतोषजनक घटनाचक्र से प्रभावित होंगे। यदि आप किसी व्यापारिक संस्था में कार्यरत हैं तो आपको अपने ही फैसले बदलने पड़ सकते हैं। रोजगार व्यवसाय के लिए वैसे तो कोई प्रतिकूल समय नहीं है फिर भी लाभदायक समय की अभी प्रतीक्षा करनी ही पड़ेगी। जहां तक हो सके आप अपने धैर्य और दूसरों की निष्ठा पर अडिग रहें। भद्र पुरुषों का सहयोग मिलता रहेगा। महीने के उत्तरार्ध में एक एक करके सभी प्रयास सिद्ध होने लग जायेंगे। हमेशा की तरह आप एक बार फिर व्यस्त और कठोर परिश्रम के दायरे में सिमट जाएंगे।

कर्क (CANCER):- इस मास का पूर्वार्ध कुछ स्थिर कार्यों को निबटाने में व्यतीत होगा। यद्यपि परिवार के वरिष्ठ सदस्य आप से सहमत हों फिर भी आप कुछ ऐसा जोखिमपूर्ण कार्य करने में उतारू होंगे जिसका लाभ मिलने में अभी देर है। इस दौरान आपको अपने धन और चल संपत्ति की भी रक्षा करनी है। चोर उचक्के और वंचकों के कारण आंशिक धन का नुकसान हो सकता है। किसी के साथ व्यर्थ की बहसबाजी से माहौल गर्म हो सकता है। महीने के उत्तरार्ध में कुछ विचित्र समाचारों और फेरबदल का लाभ मिलेगा। यदि आप थोक व्यापार या निर्माण कार्यो से जुड़े हैं तो आपको पूंजीगत लाभ में अचानक वृद्धि हो सकती है। महीने के अन्त तक कुछ योजनाओं का परिणाम सामने आएगा और घर परिवार के सदस्यों के कार्यक्रम भी आपके व्यवसाय में सहयोग दे सकते हैं।


सिंह (LEO):- इस मास का आरम्भ भी कार्य व्यस्त जीवन से जुड़े प्रसंग और सफलता के आंकड़ों को एकत्रित करने से हो रहा है। अनेक महानुभावों को जो अधिकार प्राप्त पदों से जुड़े हैं , उनको व्यवस्था संबंधी समस्याओं से जूझना होगा। घर में स्त्री अथवा संतान आदि के कारण पैदा हुए छिटपुट विवाद और क्लेश को निपटाने की युक्ति भी आपके हाथ में होगी। यदि संदेह और संशय करें तो आपके द्वारा त्यागे हुए शुभचिन्तक और मित्र पुनः आपके कामकाज में सहयोगी बन सकते हैं। इस दौरान चाहते हुए भी आपको कुछ खर्चीले कार्य पूरे करने होंगे। अस्थाई तौर पर प्रवास अथवा यात्रा का दौर भी सकता है। सामान्य जातकों को सुख आराम के अवसर भी मिलेंगे। मासांत तक कुछ भौतिक सुखों की वृद्धि होने से कार्य क्षमता का विस्तार होगा।

कन्या (VIRGO):- इस महीने के मध्य तक बुध और शुक्र ही आपकी राशि में तीसरे और छठे विद्यमान रहेंगे। इस प्राकृतिक अवस्था में बदलाव के कारण महिलाओं तथा विद्यार्थी वर्ग को कुछ शारीरिक पीड़ाएं झेलनी पड़ सकती हैं। शरीर में फोड़े फुन्सी और रक्त विकार के कारण निद्रा और सुख चैन में खलल पहुंचेगा। वरिष्ठ महानुभाव अगर यथोचित साहस और अपनी प्रबंध व्यवस्था को मजबूत करें तो जीवन का कर्म क्षेत्र उनको अधिनायक बनाने में कामयाब हो सकता है। इस महीने के उत्तरार्ध में आर्थिक समस्याओं का निदान खोजना होगा। अनेक जटिल कार्यों को किसी भांति या कुछ ले देकर निबटाना होगा। यदि आप व्यापार अथवा किसी स्वतंत्र कारोबार से जुड़े हैं तो अपने आय - व्यय के लेखे से अपनी मान - प्रतिष्ठा भी बचानी जरूरी होगी। फिलहाल नजदीकी लोग या मित्र आदि कुछ हद तक आपकी शंकाओं को बढ़ा सकते हैं।


तुला (LIBRA):- इस मास के पूर्वार्ध में तीसरा चल रहा सूर्य और राशि पर चल रहा मंगल के गोचर के कारण स्वभाव में उग्रता आएगी। राशि पर चल रहे शनि के दुष्प्रभाव से आए दिन के झंझटों और नाना प्रकार के अवरोध के कारण किसी भी काम के बनने में शंका होने लगेगी। आर्थिक पक्ष से भी कुछ खिन्नता और निराशा झेलनी होगी। वांछित रकम समय पर मिलने से जुर्माना और देनदारी की आशंका रहेगी। यदि आप किसी राजकीय सेवा या प्रशासन व्यवस्था से जुड़े हैं तो अनियमितता के आरोप लग सकते हैं। व्यापारिक कार्यों से जुड़े हुए महानुभाव इस दौरान सावधानीपूर्वक काम करें क्योंकि जरा - सी लापरवाही के कारण कोई भी मामला विवादास्पद हो सकता है। महीने के उत्तरार्ध में सूर्य और बुध चौथे स्थान में प्रवेश करेंगे। जिसके उपरान्त एकाएक ही कार्यक्षेत्र की विपरीत परिस्थितियां बदल जाएंगी और दैनिक जीवन में आने वाली बाधाएं भी नष्ट होने लग जाएंगी। उत्साहजनक समाचार मिलेंगे रचनात्मक कार्यों में मन लगा रहेगा।

वृश्चिक (SCORPIO):- यह महीना पूर्वार्ध में दशम भाव का मंगल आपकी महत्वाकांक्षा और अभिलाषाओं का पूरक होगा। ज्ञान - विज्ञान और बौद्धिक स्तर के सज्जनों से मेल - मुलाकात होगी। अपरिचित जनता में आपकी सद्भावना बढ़ेगी। कला क्षेत्र या साहित्य लेखन एवं संचार माध्यमों से जुड़े हुए महानुभाव राजनैतिक अनुकम्पा से अथवा सरकार की ओर से विशेष पदों के उम्मीदवार बनेंगे। जीवन स्तर में उत्तरोत्तर सुधार होगा। चेहरे पर चमक बढ़ेगी। शरीर भी निरोगी रहेगा। मास के मध्य में सूर्य पराक्रम भाव में आएगा। सरकारी क्षेत्र में शक्तिशाली और अधिकार प्राप्त महानुभावों से प्रतिद्वन्दिता बढ़ेगी। अपनी शानोशौकत को बनाए रखने के लिए अनेक प्रकार के आडम्बर और दिखावे का प्रदर्शन करना होगा। व्यापार में कुछ महंगी शर्तों पर आप किसी लाभकारी अनुबन्ध या उपव्यवसाय की प्राप्ति कर लेंगे।

धनु (SAGITTARIUS):- इस मास का पूर्वार्ध भी अपने काम से काम रखने योग्य है। बिना कारण आप किसी भी प्रकार के जोखिम में नहीं उलझें तथा दूसरों के काम में हस्तक्षेप भी नहीं करें। महीने के पूर्वार्ध में अगर आप अपने भूले बिसरे मित्रों से मेल मुलाकात बढ़ाएं तो आपके कुछ गंभीर , मांगलिक तथा सामाजिक उत्तरदायित्व पूरे हो जाएंगे। व्यापार व्यवसाय से जुड़े महानुभाव इस बीच अपनी देनदारियों को चुकता करें। अगर संभव हो तो पुराने ऋण से भी मुक्त हो जाएंगे। महीने के मध्य में दूसरा भाव का सूर्य एक ओर आपको अनेक प्रकार से मालामाल करने में समर्थ है वहां कुछ जोखिम भरे कार्य का अप्रत्याशित लाभ भी आपको मिलेगा। मास के उत्तरार्ध में ही घर आवास की समस्याएं हल होंगी। लेन देन की माथा पच्ची से छुटकारा मिलेगा। किसी लाभदायक वस्तु का लाभ भी मासान्त में होगा।


मकर (CAPRICORN):- इस महीने के पूर्वार्ध में भी अनेकानेक प्रकार की हलचल और अविस्मरणीय घटनाएं आपको व्यस्त रखेंगी। साहस और शौर्य में वृद्धि होगी। मानसिक संकोच नष्ट होकर स्पष्टवादिता और निर्विकार हृदय से किए गए कार्य सफलता की ओर बढ़ाएंगे। वरिष्ठजनों के स्वास्थ्य के कारण यद्यपि महीने के मध्य भाग में कुछ परेशानी उत्पन्न हो सकती है या वाहन मकान एवं अन्य सुख साधनों में तकनीकी बाधा आने से बेचैनी बढ़ सकती है। परन्तु मास के मध्य में सूर्य के राशि स्थान में प्रवेश करते ही सभी पिछले संकट लुप्त हो जाएंगे। दूरस्थ मित्रों या विदेशी मेहमानों की आवक होगी। संलगन के भाग्य का अभ्युदय होगा। भौतिक सम्पदा के साथ साथ आर्थिक और आध्यात्मिक सम्पदा का भी लाभ होगा। प्रौढ़ जातकों के लिए मासान्त किसी शुभ समाचार की प्राप्ति करा सकता है।

कुंभ (AQUARIUS):- इस मास का पूर्वार्ध भी लाभकारी गोचर से ओत - प्रोत है। भविष्य की योजनाओं पर विचार विनिमय होगा। मित्रजनों एवं पारिवारिक सदस्यों से सहयोग की अपेक्षा रहेगी। महीने के पूर्वार्ध तक नित्य नवीन आयोजन तथा सुखद मनोरंजन की प्राप्ति होगी। जो जातक व्यापार आदि से सम्बद्ध हैं उन्हे नए सम्बन्ध बनाने में सुविधा होगी। प्रभावशाली मित्रों और अधिकारियों के बीच आवागमन रहेगा। महीने के मध्य भाग में सूर्य राशि परिवर्तन करेगा तो कुछ अनावश्यक खर्च और लाभ मार्ग में रुकावट भी पैदा हो सकती है। किसी दूसरे के विवाद में हस्तक्षेप करना पड़ेगा। सगे संबंधियों तथा शुभचिन्तकों से मन मुटाव या वाद विवाद की स्थिति उत्पन्न हो सकती है। किसी दूसरे के विवाद में हस्तक्षेप करना पड़ेगा। सगे से लिखा - पढ़ी के काम में सावधानी तथा दूसरे की जमानत प्रतिभूति आदि में विशेष सावधानी वांछित है। महीने तक यात्रा आदि के कार्यक्रम बन सकते हैं। संतान पक्ष से प्रसन्नता मिलेगी।

मीन (PISCES):- इस महीने के पूर्वार्ध में भी कुछ परिवर्तनशील गोचर का दुष्प्रभाव रहेगा। आजीविका अथवा व्यापार में स्थानांतरण या रद्दोबदल की आशंका रहेगी। सही समय पर निर्णय लें और कदम उठाने के बावजूद महत्वपूर्ण कार्यों में रुकावटें आएंगी। व्यवहार जगत में लोग अपने वायदे से मुकर जाएंगे। बड़ी पूजी वाले काम में एकदम धन की आवश्यकता होगी। महीने के मध्य भाग में सूर्य राशि परिवर्तन करके एकादश भाव में आएगा। पिछले घटनाक्रम पर अंकुश लगेगा। व्यापार व्यवसाय में नए सिरे से अनुबंध और समझौता आदि होगा। संचार माध्यम या कला जगत से जुड़े लोग अपनी बौद्धिक क्षमता के माध्यम से धन और यश कमाएंगे। राज्याधिकारियों एवं वरिष्ठ कर्मचारियों से मित्रता बढ़ेगी। युवा वर्ग को सज्जनों द्वारा लाभ होगा। यदि अस्थाई नौकरी में हों तो स्थाई रोजगार के आदेश प्राप्त होंगे। महीने के आखिर में कोई बड़ा कार्य कर दिखाने की प्रेरणा जाग्रत होगी। 



नोट : इस ब्लॉग पर प्रस्तुत लेख या चित्र आदि में से कई संकलित किये हुए हैं यदि किसी लेख या चित्र में किसी को आपत्ति है तो कृपया मुझे अवगत करावे इस ब्लॉग से वह चित्र या लेख हटा दिया जायेगा. इस ब्लॉग का उद्देश्य सिर्फ सुचना एवं ज्ञान का प्रसार करना है

copy disabled

function disabled