शनिवार, 17 नवंबर 2012

.फेयर एंड लवली की महिमा जरुर रीड करे

!!!.......फेयर एंड लवली की महिमा जरुर रीड करे ........!!!!

--पहला विज्ञापन: फेयर एंड लवली लगाने से आप इतने गोरे हो जाते हैं कि किसी फिल्म के निर्माण के दौरान किसी हीरो को फिल्म से निकलवाकर खुद हीरो बन सकते हैं।
--दूसरा विज्ञापन: फेयर एंड लवली लगाने से आप इतने गोरे हो जाते हैं कि सब आपकी फोटू खींचने को उतावले हो जाते हैं।
--तीसरा विज्ञापन: फेयर एंड लवली लगाने से आप इतने गोरे और सुंदर हो जाते हैं

कि आप आसानी से माडल और ब्रांड एम्बेसडर बन सकते हैं। जो लोग काले या गेहुंए होते हैं वो कुरूप होते हैं।
--चौथा विज्ञापन: सफलता और प्रसिद्धि के लिए गोरा होना जरूरी है और जो लोग गोरे नही होते वो निचले दर्जे के लोग होते हैं।
--पांचवां विज्ञापन: इसमें बताया जा रहा है कि नौकरी और तरक्की के लिए क्वालिफिकेशन(योग्यता) से बढ़कर भी कुछ जरूरी होता है... और वो पता है क्या है? चमड़ी का गोरा रंग। जिससे सामने वाले को प्रभावित किया जा सकता है। इसलिए नौकरी पाने के लिए फेयर एंड लवली लगाइए।
--छठा विज्ञापन: गोरे रंग से आप फिल्म स्टार बन सकते हैं और हां गोरा रंग आपको एवार्ड भी दिला देता है

फेयर एंड लवली का मालिक कौन है पता है ? हिन्दुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड।
और ये हिन्दुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड का मालिक ब्रिटेन की कंपनी यूनिलीवर लिमिटेड है।
अब आते हैं इसके ब्रांडो पर :
•एक्स(वही जिसके विज्ञापनों में बताया जाता है कि एक्स की खुशबू से औरतें आपके साथ सोने को एक पैर से तैयार हो जाएंगी)
•लिप्टन
•लक्स
•सर्फ़ (दाग अच्छे हैं)
•सनसिल्क
•रेक्सोना (हरपल साथ निभाए)
•डोव
•ब्रुक बॉन्ड
•ब्रू
•किसान जैम/केचअप आदि
•लाइफ बॉय
•विम
•पियर्स साबुन
•पान्ड्स
•फेयर एंड लवली
•वैसलीन
•क्वालिटी वाल्स आइसक्रीम
आदि आदि इत्यादि

इन ब्रांडों उत्पादों का भारत में जमकर इस्तेमाल होता है। मैं तो उस वक्त दंग रह गया जब देखा कि हमारे द्वारा रोजमर्रा के उपयोग किये जाने वाले ज्यादातर उत्पाद यूनिलीवर के हैं। यानि कि हमारी जेबों से इतनी भारी मात्रा में धन केवल एक कंपनी विदेश ले जा रही है। तो बाकी का मिलाकर क्या होगा?

एक दिन मैंने किराने की दुकान वाले से देशी विदेशी सामानों के बारे में पूछा तो उसने कहा कि यदि देशी विदेशी देखोगे तो कुछ खा नही पाओगे। यानि कि ज्यादातर उत्पाद विदेशी कंपनियों के हैं। आप यूनिलीवर के उत्पादों से ही अंदाजा लगा सकते हैं। बाजार पटा पड़ा है विदेशी कंपनियों के उत्पादों से।

अब भई ब्रिटेन की कंपनी है तो वो तो बोलेगी ही कि जो लोग गोरे नही होते उनकी कोई हैसियत नही होती।

copy disabled

function disabled