बुधवार, 22 मई 2013

तैलीय त्वचा के लिए घरेलू नुस्खे:

तैलीय त्वचा के लिए घरेलू नुस्खे:-----


तैलीय त्वचा पर दाने, मुंहासे, ब्लैकहेड्स जैसी समस्या बहुत होती हैं। ऐसी त्वचा पर गंदगी और धूल जल्दी जमती है। यदि इसकी सही से सफाई ना हो तो त्वचा के रोम छिद्र बंद हो जाते हैं। जानिए ऐसे घरेलू उपाय जिनको अपनाकर भी आप अपनी तैलीय त्वचा की देखभाल कर सकती हैं:-

यूं तो हर त्वचा को खास ध्यान दिए जाने की जरूरत होती है, लेकिन तैलीय त्वचा को ज़रा ज्यादा ही देखभाल की जरूरत होती है। तैलीय त्वचा पर दाने, मुंहासे, ब्लैकहेड्स जैसी समस्या बहुत होती हैं। ऐसी त्वचा पर गंदगी और धूल जल्दी जमती है। यही कारण है कि तैलीय त्वचा को अच्छी तरह से साफ किया जाना बेहद जरूरी होता है। यदि इसकी सही से सफाई ना हो तो त्वचा के रोम छिद्र बंद हो जाते हैं।
परिणामस्वरूप तैलीय त्वचा पर ब्लैकहेड्स नजर आने लगते हैं। इनसे बचने के लिए आप क्या-क्‍या नहीं करती। महंगे ब्यूटी उत्पाद खरीदती हैं और कई बार विशेषज्ञों के पास भी जाती हैं। लेकिन, इस तैलीय त्वचा के लिए आपके घर की रसोई में ही कई उत्पाद मौजूद हैं। आइए हम आपको बताते है ऐसे घरेलू उपाय जिनको अपनाकर भी आप अपनी तैलीय त्वचा की देखभाल कर सकती हैं।

तैलीय त्वचा के लिए घरेलू नुस्खे-

एक चम्मच नींबू के रस में एक चम्मच गुलाब जल और पिसा हुआ पुदीना मिलाकर 1 घंटे तक रखें। फिर इस पैक को चेहरे पर लगाकर 20 मिनट बाद धो लें। इससे चेहरे का चिपचिपापन दूर हो जाएगा।
आधा चम्मच संतरे के रस में 4-5 बूंद नींबू का रस, आधा चम्मच मुल्तानी मिट्टी, आधा चम्मच चंदन पाउडर और कुछ बूंदें गुलाब जल की मिलाकर कर थोड़ी देर के लिए फ्रिज में रख दें। इसे चेहरे पर 15-20 मिनट लगा रहने दें। इसके बाद पानी से इसे धो दें। यह तैलीय त्वचा का सबसे अच्छा उपाय है।

तैलीय त्वचा के लिए मुल्तानी मिट्टी में दही और पुदीने की पत्तियों का पाउडर मिला कर उसे आधे घंटे तक रखा रहने दें, फिर अच्छे से मिलाकर चेहरे और गर्दन पर लगाएं। सूखने पर हल्के गर्म पानी से धो दें। यह तैलीय त्वचा को चिकनाई रहित रखने का कारगर नुस्खा है।
सेब को छीलकर पेस्ट बना लें। इसे चेहरे व गर्दन पर लगाएं। 20 मिनट बाद हलके गुनगुने पानी से चेहरा साफ कर लें। सेब एएचए (अल्फा हाइड्रॉक्सी एसिड) का बेहतरीन स्रोत होता है, जो त्वचा को टोन करता है। उसे मुलायम और कांतिमय बनाता है।
एक टी स्पून चंदन पाउडर में गुलाबजल मिलाकर पेस्ट बनाएं। फिर उसे चेहरे पर लगाएं। सूखने पर पानी से धो लें। इससे त्वचा के दाग-धब्बे और एक्ने भी दूर होंगे।
टी स्पून बेसन में चुटकी भर हल्दी पाउडर, आधा नीबू का रस मिलाकर पेस्ट बनाएं। अगर आपको नीबू सूट नहीं करता है तो उसकी जगह पर दही मिला सकती हैं। आंखों के आसपास का हिस्सा छोडकर लगाएं। सूखने पर हलके हाथों से मलते हुए छुडाएं। यह त्वचा का कालापन दूर करता है। हल्दी त्वचा की चमक बरकरार रखती है।


तैलीय त्वचा को भी मॉयस्चराइजर की जरूरत होती है और इसके लिए आप शहद का इस्तेमाल कर सकती हैं। शहद एक बेहतरीन कुदरती मॉयस्चराइजर होता है। इसे चेहरे पर 15 मिनट लगाएं। फिर धो लें। यह त्वचा की जलन, मुंहासे और कालेपन को दूर करता है। साथ ही उसे कांतिमय और लचीली बनाता है।
एक टेबल स्पून चावल के आटे में एक टेबल स्पून कॉर्नफ्लोर और नीबू के रस की कुछ बूंदें मिलाकर चेहरे पर लगाएं। फिर भीतर से बाहर की तरफ गोलोई में हाथ घुमाते हुए कुछ देर मसाज करें। चावल का आटा डेड सेल्स हटाता है। त्वचा के छिद्र भी खोलता है, ताकि साफ ऑक्सीजन त्वचा के भीतर जा सके।
एक टेबल स्पून मुलतानी मिट्टी में एक टेबल स्पून ओट्स पाउडर, एक टेबल स्पून कॉर्नफ्लोर और गुलाबजल मिलाकर गाढा पेस्ट तैयार करें। इसे चेहरे व गर्दन पर लगाएं। 20 मिनट बाद चेहरा साफ कर लें।

copy disabled

function disabled