गुरुवार, 2 फ़रवरी 2017

आज का पंचांग व राशिफल

.        ।। 🕉 ।।
    🌞 *सुप्रभातम्* 🌞
««« *आज का पंचांग* »»»
कलियुगाब्द.................5118
विक्रम संवत्...............2073
शक संवत्..................1938
मास...........................माघ
पक्ष...........................शुक्ल
तिथी..........................षष्ठी
रात्रि 12.42 पर्यंत पश्चात सप्तमी
रवि.....................उत्तरायण
सूर्योदय...........07.06.12 पर
सूर्यास्त...........06.15.37 पर
तिथि स्वामी............कार्तिकेय
नित्यदेवी................नित्याम्बा
नक्षत्र..........................रेवती
रात्रि 09.11 पर्यंत पश्चात अश्विनी
योग...........................साध्य
रात्रि 02.41 पर्यंत पश्चात शुभ
करण........................कौलव
दोप 01.33 पर्यंत पश्चात तैतिल
ऋतु...........................बसंत
दिन..........................गुरुवार

🇬🇧 *आंग्ल मतानुसार* :-
02 फरवरी सन 2017 ईस्वी ।

👁‍🗨 *राहुकाल* :-
दोपहर 01.55 से 03.15 तक ।

🚦 *दिशाशूल* :-
दक्षिणदिशा -
यदि आवश्यक हो तो दही या जीरा का सेवन कर यात्रा प्रारंभ करें।

☸ शुभ अंक..................2
🔯 शुभ रंग.............केसरिया

✡ *चौघडिया* :-
प्रात: 07.12 से 08.32 तक शुभ
प्रात: 11.13 से 12.34 तक चंचल
दोप. 12.34 से 01.55 तक लाभ
दोप. 01.55 से 03.15 तक अमृत
सायं 04.36 से 05.57 तक शुभ
सायं 05.57 से 07.36 तक अमृत
रात्रि 07.36 से 09.15 तक चंचल |

💮 *आज का मंत्र* :-
।। ॐ सत्पुरुषाय नम: ।।

📢 *सुभाषितम्* :-
*अष्टावक्र गीता - द्वितीय अध्याय :-*
द्वैतमूलमहो दुःखं नान्य-
त्तस्याऽस्ति भेषजं।
दृश्यमेतन् मृषा सर्वं
एकोऽहं चिद्रसोमलः॥ २-१६॥
अर्थात :-
द्वैत (भेद)  सभी दुखों का मूल कारण है। इसकी इसके अतिरिक्त कोई और औषधि नहीं है कि यह सब जो दिखाई दे रहा है वह सब असत्य है। मैं एक, चैतन्य और निर्मल हूँ॥१६॥.3

🍃 *आरोग्यं* :-
धनिया क्यों फायदेमंद होता है ?

✏* धनिया हर भारतीय रसोई का अभिन्न हिस्सा है। बतौर मसाला और व्यंजनों का स्वाद बढ़ाने के लिए इसे खूब इस्तेमाल किया जाता है।

✏* चाहे धनिया की हरी ताजा पत्तियों की बात हो या इसके सूखे हुए बीज, इनका इस्तेमाल घर-घर में किया जाता है। आधुनिक विज्ञान ने धनिया के अनेक औषधीय गुणों को प्रमाणित किया है। आज हम आपको इससे जुड़े पारंपरिक ज्ञान के बारे में बताने जा रहे हैं।

✏* हरे ताजे धनिया की पत्तियां लगभग 20 ग्राम और उसमें चुटकी भर कपूर मिला कर पीसकर रस छान लें। इस रस की दो बूंदें नाक के छिद्रों में दोनों तरफ टपकाने से तथा रस को माथे पर लगा कर हल्का-हल्का मलने से नाक से निकलने वाला खून, जिसे नकसीर भी कहा जाता है, तुरंत बंद हो जाता है।

✏* थोड़ा-सा ताजा हरा धनिया कुचलकर कर पानी में उबाल कर ठंडा होने के बाद मोटे कपड़े से छान कर शीशी में भर लें। इसकी दो बूंदें आंखों में टपकाने से आंखों में जलन, दर्द तथा आंख से पानी गिरना जैसी समस्याएं दूर होती हैं।

✏* धनिया महिलाओं में मासिक धर्म संबंधी समस्याओं को भी दूर करता है। यदि मासिक धर्म साधारण से ज्यादा हो, तो आधा लीटर पानी में लगभग 6 ग्राम धनिया के बीज डालकर खौलाएं और इसमें शक्कर डालकर पिएं, फायदा होगा।

✏* धनिया को मधुमेह नाशी माना जाता है। इसके सेवन से खून में इंसुलिन की मात्रा नियंत्रित रहती है। धनिया त्वचा के लिए भी फायदेमंद है।

✏* धनिया की पत्तियों के कुचलकर इसकी 1 चम्मच मात्रा लेकर चुटकी भर हल्दी का चूर्ण मिलाकर चेहरे पर दिन में कम से कम 2 बार लगाएं। इससे मुंहासों की समस्या दूर होती है और यह ब्लैकहेड्स को भी हटाता है। सौंफ, मिश्री व धनिया के बीजों की समान मात्रा लेकर चूर्ण बना कर 6-6 ग्राम प्रतिदिन भोजन के बाद खाने से हाथ-पैर की जलन, एसिडिटी, आंखों की जलन, पेशाब में जलन व सिरदर्द दूर होता है।

⚜ *आज का राशिफल* :-

🐏 *राशि फलादेश मेष* :-
आर्थिक स्थिति अच्छी रहेगी। परिवार में सुख एवं तरक्की का आगमन होगा। परेशानियों का मुकाबला करके भी लक्ष्य को प्राप्त करेंगे।
               
🐂 *राशि फलादेश वृष* :-
व्यावसायिक निर्णय लेने में जल्दबाजी नहीं दिखाएं। आर्थिक योग मध्यम रहेंगे। पारिवारिक जवाबदारी पर ध्यान दें। आवेश, उत्तेजना पर संयम रखना होगा। अधूरे पड़े काम पूरे हो सकेंगे।
                   
👫 *राशि फलादेश मिथुन* :-
पारिवारिक तनाव से मन परेशान रहेगा। व्यापार-व्यवसाय मध्यम रहेगा। मित्र सहयोग करेंगे। आप स्वार्थ एवं भोग की प्रवृत्ति रहेगी।
           
🦀 *राशि फलादेश कर्क* :-
कार्य एवं व्यवसाय के क्षेत्र में विभिन्न बाधाओं से मन अशांत रहेगा। शत्रुपक्ष से सतर्क रहें। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। कर्ज लेना पड़ सकता है।
            
🦁 *राशि फलादेश सिंह* :-
परिवार के सदस्यों से मदद मिलेगी। आपका सामाजिक क्षेत्र बढ़ेगा। आमदनी में वृद्धि होगी। अधिक प्रतिष्ठा प्राप्त नहीं कर पाएंगे।
                   
👸🏻 *राशि फलादेश कन्या* :-
आप सही निर्णय लेने में सक्षम होंगे। मित्रों से विवाद, लेन-देन से बचें। विवाद समाप्त होने से शांति एवं सुख बढ़ेगा।
                     
⚖ *राशि फलादेश तुला* :-
व्यावसायिक क्षेत्र में सफलता का विशेष योग है। अनुकूल समाचार मिलेंगे। जल्दबाजी में काम न करें। संतान के कामों पर नजर रखें।
    
🦂 *राशि फलादेश वृश्चिक* :-
व्यापारिक लाभ के आर्थिक सुदृढ़ता बढ़ेगी। व्यवहारकुशलता से समस्या का समाधान होगा। उच्च और बौद्धिक वर्ग में सम्मान प्राप्त होगा।
    
🏹 *राशि फलादेश धनु* :-
भूमि संबंधी लेन-देन में रुचि बढ़ेगी। अधूरे पड़े कार्य पूर्ण होने के योग हैं। संतान के प्रति रुचि बढ़ेगी। व्यापार में नए अनुबंध होंगे।
                        
🐊 *राशि फलादेश मकर* :-
कानूनी मामलों में लापरवाही नहीं करें। जायदाद संबंधी समस्या सुलझने की संभावना है। आर्थिक स्थिति अच्छी रहेगी। व्यापार अच्छा चलेगा।
                       
🏺 *राशि फलादेश कुंभ* :-
व्यापार, नौकरी में आपका महत्व एवं प्रभाव बढ़ेगा। पिता के स्वास्थ्य पर ध्यान दें। प्रयास व सहयोग से अनुकूलता आएगी।
               
🐬 *राशि फलादेश मीन* :-
नए संबंध लाभदायी सिद्ध होंगे। राजनीतिक एवं सामाजिक कार्यों में सफलता मिलेगी। खर्चों में कमी का प्रयास करें। शिक्षा व ज्ञान में वृद्धि होगी।
          
☯ आज का दिन सभी के लिए मंगलमय हो ।

।। *शुभम भवतु* ।।

🇮🇳🇮🇳 *भारत माता की जय*  🚩🚩

copy disabled

function disabled