शनिवार, 30 मार्च 2019

नोट: इसका वास्तविक चुनावी गठबंधन से कोई संबंध नही है

हमारे बाथरूम मे जब नहाने का साबुन बिल्कुल छोटा हो जाता है तो ...
हम उसे साबुन दानी मे छोडकर नया साबुन निकाल लेते हैं।
जब ऐसा 3चार बार होता है तो
छोटे छोटे साबुन के कई टुकडे इकट्ठे हो जाते हैं।
हम सोचते हैं इसे फेकने की बजाय इसका "गठबंधन" बना दिया जाये फ़िर भी वो गठ बंधन वाला साबुन नहाने के काम नही आता सिर्फ़ शौच के हाथ धोने के काम ही आता है।☹😊😷🙄😎

नोट: इसका वास्तविक चुनावी गठबंधन से कोई संबंध नही है

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणी करें

copy disabled

function disabled