शनिवार, 14 दिसंबर 2013

गौ हत्यारे होने से बचिए-

 

गौ हत्यारे होने से बचिए-----------

जानिए क्या क्या बना है गौ मांस और हड्डियो से ........ये विडियो देखे
www.youtube.com/watch?v=tgQuXz5kVHc SaveFrom.net

गौ हत्यारे होने से बचिए----------- ----------

भारतमे करीब ३६००० कतलखाने है जिसमे हर साल करीब ४ करोड़ गाय, भैंस इत्यादि का कतल होता है | गाय कत्ल होने
के बाद मांस उत्पन्न होता है और मांसाहारी लोग उसे भरपूर खाते है | भारत के बीस प्रतिशत लोग मांसाहारी है जो रोज मांस खाते है और सब तरह का मांस खाते है | मांस से जो तेल निकलता है उसे tellow कहते है जैसे गाय की मांस से जो तेल निकलता है उसे beef tellow और सूअर की मांस से जो तेल निकलता है उसे pork tellow कहते है |

इस तेल का सबसे जादा उपियोग चेहरे में लगाने वाली क्रीम बनाने में होती है जैसे Fair & Lovely , Ponds , Emami इत्यादि |और जैसा कि आप जानते है मद्रास high court मे श्री राजीव दीक्षित जी ने विदेशी कंपनी fair and lovely के खिलाफ case जीता था जिसमे कंपनी ने खुद माना था कि हम इस fair and lovely मे सूअर की चर्बी का तेल मिलाते हैं !
आप यहाँ click कर देख सकते है !
http://www.youtube.com/watch?v=cVECjalM76g SaveFrom.net

रक्त का भी भरपूर उपियोग होता है औषधि बनाने में जैसे एक दावा बनती है जो गर्भबती माताओं को दिया जाता है खून की कमी को दूर करने के लिए उसका नाम है Dexorange और ये दावा सभी डॉक्टर लिखते है क्योकि इसमें कोमिसन जादा मिलता है |
रक्त से बहुत बड़े पैमाने पर Lipstick और Nailpolish बनता है फिर चाय बनाने वाली कंपनिया चाय बनाने में इसी रक्त का उपियोग करते है | चाय की पत्तियों को सुखा के डिब्बे में बंद करके विदेश में बेचा जाता है और जो पत्तीओं का निचे के हिस्से को जैसे टुटा हुआ डंठल सुखाके पकेट में बंध करके भारत मे बेचा जाता है लेकिन वो चाय नही है तोह उसको चाय जैसा बनाने के लिए मतलब चाय का रंग लाने के लिए रक्त को सुखाके इसमें मिलाके बेचते है | इसका तकनिकी नाम Tea Dust होता है मतलब चाय की धुल |

हड्डीयों का सबसे ज्यादा उपियोग Shaving Cream, Tooth Paste, Tooth Powder बनाने में होता है | हड्डीयों को पहले सुखाया जाता है फिर bone crasher में दाल कर उसका पाउडर बनाते है और इसी पाउडर का उपयोग पेस्ट, टूथ पाउडर, शेविग क्रीम बनाने में होती है आजकल टेलकम पाउडर में भी इसका उपियोग होने लगा है |
चमड़ी का सबसे जादा उपियोग क्रिकेट के बल बनाने में, फुटबल बनाने में, जूता बनाने में, पर्स बनाने में, बेल्ट बनाने में होता है |
गाय की बड़ी आंत से जिलेटिन बनता है जिसका बहुत जादा उपयोग आइसक्रीम, चोकलेट, Maggi . Pizza , Burger , Hotdog , Chawmin इत्यादि में भरपूर होता है | आजकल जिलेटिन का उपियोग साबूदाना में होने लगा है |

तो गाय और गाय जैसे जानवरो आदि का कत्ल होता है ! तो 5 वस्तुए निकलती है !!

1) मांस निकला ------जो मांसाहारी लोग खाते है !

2)चर्बी का तेल ----जो cosmatic बनाने मे प्रयोग हुआ !

3) खून निकाला ------ जो अँग्रेजी एलोपेथी दवाइया ,चाय बनाने मे ! nailpolish lipstick मे !

4)हडडिया निकली ------ इसका प्रयोग toothpaste, tooth powder,shiving cream मे !aur टेलकम powder

5) चमड़ा निकला !------ इसका प्रयोग cricket ball,foot ball जूते, चप्पल, बैग ,belt आदि !

जैसा ऊपर बताया 35000 क्तलखाने है और 4 करोड़ गाय ,भैंस ,बछड़ा ,बकरी ,ऊंट आदि काटे जाते है !
तो इनसे जितना मांस उतपन होता है वो बिकता है ! चर्बी का तेल बिकता है !खून बिकता है हडडिया और चमड़ा बिकता है !!
तो निकलने वाली इन पाँच वस्तुओ का भरपूर प्रयोग है और एक बहुत बड़ा बाजार है इस देश मे!!
तो आप इन सबसे बचे ! और अपना धर्म भ्रष्ट होने से बचाये !एक बात हमेशा yaad रखे टीवी पर देखाये जाने वाले विज्ञापन (ads) को देख अपने घर मे कोई वस्तु न लाये ! इनमे ही सबसे बड़ा धोखा है !
जैसे चाकलेट का विगयापन आता है केडबरी nestle आदि !! coke pepsi का आता है ! fair and lovely आदि क्रीमे ! colgate closeup pepsodent आदि आदि toothpaste !!

तो आप अपने दिमाग से काम ले इन सब चीजों से बचे !! क्यूंकि विज्ञापन उनी वस्तुओ का दिखाया जाता है जिनमे कोई क्वाल्टी नहीं होती !! देशी गाय का घी बिना विज्ञापन के बिकता है नीम का दातुन बिना विज्ञापन के बिकता है गन्ने का रस बिना विज्ञापन के बिकता है !!

विज्ञापन का सिद्धांत है गंजे आदमी को भी कघा बेच दो !! एक ही बात को बार-बार,बार-बार दिखाकर आपका brain wash करना !! ताकि आप सुन सुन कर एक दिन उसे अपने घर मे उठा लाये !!

इससे बचने का उपाय राजीव भाई बताते है की जिस बस्तु का टीवी में बहुत जाहिरात आते है उसका उपियोग मत करना |

जानिए क्या क्या बना है गौ मांस और हड्डियो से ये विडियो देखे
www.youtube.com/watch?v=tgQuXz5kVHc

copy disabled

function disabled