शुक्रवार, 3 अगस्त 2018

आतंकवाद से ग्रसित जम्मू कश्मीर की कुछ सच्चाईयां

!!!! जानिए आंखें खुल जाएंगी,!!!!
  आतंकवाद से ग्रसित जम्मू कश्मीर की कुछ सच्चाईयां ------

   - भारत के अधिकार में कश्मीर का कुल क्षेत्रफल (पाक अधिकृत कश्मीर को छोड़कर)= 85000 वर्ग कि० मी० है,
जिसका 85% हिस्सा मुस्लिम बहुल नहीं है।   १- कश्मीर  15%
       2- जम्म   26%
       3-लद्दाख  59%
कुल आबादी 1.25 करोड़
कश्मीर  69 लाख( 55लाख कश्मीरी भाषी,13 लाख गैर कश्मीरी भाषी)
  जम्मू-53 लाख,डोगरी, पंजाबी, हिंदी
लद्दाख-0.3लाख, लद्दाखी भाषी
इनमें 7.50 लाख लोग वे सम्मिलित नहीं है जो विस्थापित हो चुके हैं या नागरिक नहीं है।
कुल डिस्ट्रिक्ट संख्या 22 जिनमें से केवल 5 डिस्ट्रिक्ट अलगाववादियों से ग्रसित है ।1 -श्रीनगर  2- अनंतनाग     3-  बारामूला, 4- कुल ग्राम  5- पुलवामा बाकी 17 डिस्ट्रिक्ट भारत के समर्थक हैं। इस प्रकार केवल 15% आबादी में अलगाववादी हैं, जो कि केवल सुन्नी मुसलमान ही हैं, और ये पांचों डिस्ट्रिक्ट पाकिस्तानी बॉर्डर या एल ओ सी से दूर है। यहां पर 14 प्रकार के अन्य धर्मों या प्रकार के लोग भी रहते हैं जो भारत के पूर्ण समर्थक हैं । शिया ,डोगरा ,राजपूत ,ब्राह्मण ,महाजन, कश्मीरी,पंडित,गुर्जर,बक्करवाल,पहाड़ी,सिख,ब्लातिस्त, लद्दाखी,क्रिश्चियन व अन्य भी बहुत सारे संप्रदाय के लोग रहते हैं। जिनकी मातृभाषा डोगरी गुजरी पंजाबी लद्दाखी और पहाड़ी आदि हैं ।
सिर्फ 33% कश्मीरी भाषी लोग ही हुर्रियत मिलिटेंट्स ,पीडीपी व नेशनल कांफ्रेंस से संबंध रखते हैं ।उन्हीं 33% लोगों के हाथों में ही कश्मीर का व्यापार, प्रशासन ,शासन और संपूर्ण कृषि का व्यवसाय है, और यही 33% मुस्लिम आबादी का सुन्नी ही उग्रवाद फैलाता है ।बाकी 69 परसेंट शिया मुसलमान,  वंचित है , भारत समर्थक है ।शिया 12% गुर्जर 14% पहाड़ी मुस्लिम, बुद्धिस्ट, पंडित ,सूफी, क्रिश्चियन ,हिंदू ,जम्मू डोगरी 45% पाकिस्तान के विरुद्ध है।
पत्थरबाजी ,पाकिस्तानी झंडा लहराना, भारत विरोधी प्रदर्शन केवल इन्हीं 5 डिस्टिक तक सीमित है । बाकी 17 डिस्ट्रिक्ट के लोग कभी भी इन देशद्रोही प्रदर्शनकारियों के साथ नहीं रहे ।यह केवल भारत विरोधी मीडिया व देशद्रोही राजनीतिक लोग ही हैं जो भारत विरोधी नफरत फैलाते हैं ।जितने अलगाव वादी कुल कश्मीर में नहीं है उससे ज्यादा तो दिल्ली में बैठकर शोर मचाते हैं, और इन को हवा देते हैं ।कश्मीरी सुन्नियों के भी केवल 15% लोग ही भारत विरोधी हैं।            विशेष आग्रह ****कृपया इस संदेश को प्रत्येक भारतवासी तक पहुंचाएं जिससे कि सभी भारतीय एकजुट हो व भारत की एकता अखंडता व संप्रभुता बनाए रखने के लिए इन देशद्रोहियों वह नफरत फैलाने वालों की मुंह पर तमाचा/ताला लगाया जा सके।
जय हिंद ! वंदे मातरम!
डॉ श्री कृष्ण सैन
फोन-8700781406
दिल्ली प्रांत परियोजना प्रमुख
(धर्म जागरण समन्वय)

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणी करें

copy disabled

function disabled