रविवार, 14 अक्तूबर 2018

ये जो ME TOO कम्पैन चल रहा है इसे हल्के में मत लीजिये #metoo #me_too

ये जो ME TOO कम्पैन चल रहा है इसे हल्के में मत लीजिये - उस व्यक्ति के आला दिमाग की दाद दीजिये जिसके हरामी मष्तिष्क से ये निकला है कि कुछ बूढी होती कोठे की मौसियों का भी वापस बाजार भाव बढ़ा दिया है - ऊपर से खतरनाक पक्ष क्या है -समझे आप? जो कलम राष्ट्रवादिता के समर्थन में लिखेगी उसका चरित्र हनन किया जाएगा -ये सीधे थ्रेट हैं - ब्लैकमेल है।

अब इस कैम्पेन से थोड़ा डरिये भी और इसका तोड़ भी सोचिये , क्योंकि बहुतो की कलम खामोश हो जाएगी। बहुतो की पत्नियाँ समझदार नहीं निकलेंगी और परिवार तबाह कर बैठेंगी - पुरुष मूर्खो की तरह खड़ा रह जाएगा। और जो ये चूकी हुई नगर वधुऐं मी-टू कैम्पेन चला रही है

जिनकी बाज़ारी कीमत ५ रुपया भी नहीं है - इनको कोर्ट में घसीटने की तैयारी कीजिये - लड़िये पलट वार कीजिये इन वेश्याओं पर - इनको नारी होने लाभ मत लेने दीजिये -- याद रखिये ''ताड़का - शूर्पणखा-- पूतना '' भी नारियाँ ही थी, जिन्हे मारने मे ईश्वर ने भी देर न लगाई.

हालीवुड और विदेशों का चलन #meetoo का भसड़ अब भारत भी आ गया ..लेकिन निशाने पर कौन है ये सोचिये....

एमजे अकबर 13 सालो तक नरेन्द्र मोदी और बीजेपी के सबसे बड़े आलोचक थे ।। मोदी के खिलाफ खूब जहर उगलते थे । तब उन पर किसी भी महिला ने कोई आरोप नही लगाया .. लेकिन जैसे ही वो मोटा भाई के आबे जमजम से पवित्र हो गए और केंद्रीय मंत्री बन गए तो अब चुनावी वर्ष में 5 महिला पत्रकार उनके ऊपर आरोप लगा रही हैं कि उन्होंने कई बार उन्हें गलत तरीके से छुआ था

मतलब जब इन महिलाओं को छुआ था तब उन्हें नहीं पता चला कि उन्हें सही तरीके से छुआ जा रहा है कि गलत तरीके से लेकिन 20 साल 25 साल बाद अचानक इन महिलाओं को याद आने लगा फलाने ने उन्हें गलत तरीके से छुआ था

अब नाना पाटेकर और विवेक अग्निहोत्री जैसे लोगों को देख लीजिए यह लोग ट्विटर पर और दूसरे माध्यमों में वामपंथियों को जमकर लतियाते हैं उनके खिलाफ अचानक दो तीन महिलाएं सामने आती हैं और कहती है 25 साल पहले मेरे साथ ही उन्होंने गलत व्यवहार किया था

यह एक नया ट्रेंड जो बेहद खतरनाक है अब 20 साल पहले या 25 साल पहले ना तो कोई सुबूत बचा होगा ना ही कोई ऐसा गवाह बचा बचा होगा फिर अब आरोप लगाकर वह भी ट्विटर पर या फेसबुक पर वह महिला क्या हासिल करना चाहती है

एक और ट्रेंड मैंने देखा है कि ज्यादातर वही महिलाएं आरोप लगा रही है या तो जिनका घर टूट चुका है या जो वक्त की मार से बेहद मोटी और कुरूप हो चुकी है और ऐसे पुरुषों पर आरोप लगा रही हैं जो अब शांत सुखी दांपत्य जीवन बिता रहे हैं

#MeeTo #MeTo #MeeToo #MeToo
पुरुषों के लिए #YouTo #WeTo जैसी केम्पेन चलानी चाहिए , माचिस की तीली बगैर माचिस के मसाला लगे सिरे पर रगड़ें नही जलती ?
इन्हें तीन चार शादी किये आमिर ,शाहरुख , जावेद भी नही दिखेंगे ,या 300 के साथ सोने की घोषणा करने वाले  संजय दत्त या महेश भट्ट या कोई और
#मीटू #यूटू #वीटू #WeTo #YouTo
संजय दत्त ने ख़ुलासा किया था कि वह तीन सौ लड़कियों के साथ सो चुका है। आश्चर्य है कि इस बात पर कोई महिलावादी आगे नहीं आया/आयी और न संजय दत्त को धिक्कार भेजा।
इससे सिद्ध होता है कि यह अभियान शुद्ध राजनैतिक साजिश है, और कुछ नहीं।
चुंबक वाले इमरान हाशमी भी बेदाग। 😳 ऐश्वर्या राय को पीटने वाले सलमान पर भी आरोप नहीं और ना शाहरूख खान के लड़के पर, जिसका mms दुनिया में घूमा।
Cambridge Analitica..... New plan against bjp supporters..... I think so

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणी करें

copy disabled

function disabled