रविवार, 27 जुलाई 2014

ऐसे देश मे 60 हजार करोड़ की एक बुलेट ट्रेन किन लोगो के लिए चलाई जा रही है ??

लेकिन देश के आम व्यक्ति के वास्तविक हालात यही है
इतनी महंगाई के दौर मे अगर ये आम आदमी 500-600 रूपये आटो
वाले -वैन वाले को नहीं दे सकता ! और अपने बच्चो की सुरक्षा के लिए मजबूरन ऐसा कदम उठा रहा है तो इसमे क्या गलत है ??

शायद आप अपने बच्चो को ऑटो - वैन मे स्कूल भेजने मे समर्थ है तो आप क्या समझने गए ऐसी मजबूरी को ?

जिस देश मे 84 करोड़ 30 लाख लोग मात्र 20 रूपये प्रति दिन मे गुजारा कर रहे हो !

जिस देश मे 62 करोड़ लोग आजादी के 67 साल भी खुले मे शोच करने को मजबूर हों !

ऐसे देश मे 60 हजार करोड़ की एक बुलेट ट्रेन किन लोगो के लिए चलाई जा रही है ??

___________________________________________
9 कोच की बुलेट ट्रेन की कीमत है 60 हजार करोड़ और 17 कोच की राजधानी एक्स प्रेस का खर्च है 75 करोड़। यानी एक बुलेट ट्रेन के बजट में 800 राजधानी एक्सप्रेस चल सकती हैं। देश मे 2 करोड़ 30 लाख लोग रोज रेल से सफर करते है उनमे से 95 लाख लोग बिना सीट के खड़े होकर सफर करते है !

ऐसे मे 800 राजधानी एक्स्प्रेस चलाना या इससे भी ज्यादा चोटी ट्रेने चलाने मे समझदारी है ??

या 60000 करोड़ खर्च कर एक बुलेट ट्रेन चलाने मे ???

https://www.youtube.com/watch?v=aMOO_kCfWoE

copy disabled

function disabled