गुरुवार, 24 जनवरी 2019

क्रेडिट कार्ड का बेहतर उपयोग इसके दुष्परिणाम -"Minimum Amount Due" एक जाल है:

क्रेडिट कार्ड का बेहतर उपयोग कैसे किया जा सकता है ?
इसके दुष्परिणाम से बचने के लिए क्या नहीं करना चाहिए ?

क्रेडिट कार्ड आपके नकद प्रवाह के प्रबंधन में एक अच्छा साधन है, लेकिन यदि आप इसे बुद्धिमानी से उपयोग नहीं करते हैं तो आप अपने वित्तीय जीवन को परेशानी में डाल सकते हैं। मैं यंहा कुछ पॉइंट्स की व्याख्या कर रहा हु जो आपको क्रेडिट कार्ड के प्रभावी उपयोग में आपकी मदद कर सकते हैं:
अपनी क्रेडिट कार्ड की सीमा जानें: आपको अपनी क्रेडिट कार्ड की क्रेडिट सीमा से अवगत होना चाहिए। इस क्रेडिट सीमा को अनावश्यक रूप से न बढ़ाएं। आपकी सीमा को नियंत्रित करने से आपको अवांछित खरीद से बचने और धोखाधड़ी के जोखिम को कम करने में मदद मिलती है।
नोट: कई देशों में भारत जैसे दो कारक प्रमाणीकरण (two factor authentication )नहीं हैं। अगर आपके कार्ड की डिटेल्स किसी बहार के व्यक्ति के पास है तो वह बिना OTP के आपके कार्ड का दुरूपयोग कर सकता है। सतर्क रहे।
सही समय पे खर्च करे: भारत में क्रेडिट कार्ड कम्पनीज 20 दिनों (न्यूनतम) से लेकर 50 दिनों (अधिकतम) तक मुफ्त क्रेडिट अवधि प्रदान करती हैं। इस अवधि को अच्छे से उपयोग करने के लिए आप अपने खर्चो को सही समय पे कैसे करे ये कोई रॉकेट विज्ञान नहीं हैं। जब आपकी Billing cycle शुरू होती है तब अपने खर्चो को plan करे ताकि आप मुफ्त क्रेडिट अवधि का ज्यादा से ज्यादा फायदा उठा पाए। मैं अमूमन Billing Date से 5–10 दिन पहले कुछ खर्च नहीं करता हु। अपने Cash flow को अच्छे से Manage करने के लिए इस मुफ्त क्रेडिट अवधि का पूरी तरह से उपयोग करें।
"Minimum Amount Due" एक जाल है: हमेशा पूर्ण भुगतान करें। "न्यूनतम राशि देय" (Minimum Amount Due) के जाल में न फंसे। हमेशा समय पे भुगतान करे। ये आपके क्रेडिट स्कोर को प्रभावित करता है।
रिवार्ड्स पॉइंट्स बढ़ाये: जब आप ऑनलाइन कुछ खरीदते हैं तो उत्पाद की कुल प्रभावी लागत की गणना करें (खरीद पर अर्जित Reward points की कटौती करने के बाद)। यदि कोई विशेष साइट, अपनी साइट पर किसी उत्पाद को खरीदने पर ज्यादा Reward points दे रही है, भले ही उत्पाद का मूल्य कुछ सौ रुपए अतिरिक्त हो, तो आपको आपको इस साइट से खरीदना चाहिए, बशर्ते प्रभावी लागत (Reward points की कटौती करने के बाद) यंहा कम है।
अपने खर्चों को प्री-प्लान एवं ट्रैक करें: देय तिथि से अपनी चुकौती क्षमता से अधिक खर्च करने की योजना न बनाएं। आपको पता होना चाहिए कि आप अपने क्रेडिट कार्ड पर क्या खर्च करना चाहते हैं। इससे आपको मासिक बजट योजना में मदद मिलेगी।
ज्यादा कार्ड्स न रखे: ऐसा करने से भुगतान में चूक होने की गुंजाइश ज्यादा रहती है। 1 या 2 कार्ड्स आमतौर पे प्रयाप्त होते है।

कैसे में अपने क्रेडिट स्कोर को बढ़ा सकता हूँ ?
आम तौर से अगर आप अपने सभी क्रेडिट कार्ड और लोन की किश्तों का पूरा और सही समय पर भुगतान करते हैं तो आपकी क्रेडिट रेटिंग अच्छी रहेगी।
क्रेडिट रेटिंग में unsecured लोन के लिए कुछ नेगेटिव पॉइंट होते हैं। इसलिए अगर आप के पास बहुत सारे क्रेडिट कार्ड हैं तो भी आपकी रेटिंग कम हो सकती है। कम रेटिंग का अर्थ है ज्यादा रिस्क। जिस व्यक्ति के पास बहुत ज्यादा संख्या में और बहुत ज्यादा रकम की क्रेडिट लिमिट हो वो व्यक्ति भी रिस्क हो सकता है।
अगर किसी व्यक्ति के हाल में 2–3 लोन या क्रेडिट कार्ड के आवेदन स्वीकार नहीं होते हैं तो भी उसकी रेटिंग कम हो सकती है। #creditcards #creditscore #cibilscore #loan #emi #savemoney #earnmoney #sanwariya #vinaycomputers www.sanwariyaa.blogspot.in

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणी करें

copy disabled

function disabled