बुधवार, 26 जून 2013

गुणों की खान गर्म पानी

गुणों की खान गर्म पानी
पानी स्वास्थ्य  के लिए लाभाकारी होता है और गर्म पानी स्वास्थ्य  के लिए एक गुणकारी दवा के रूप में काम करता है। स्वास्थ्य  से लेकर सौंदर्य तक को निखारने में गर्म पानी लाभदायक है।

गर्म पानी औषधीय गुणों की खान है। पानी को अगर थोड़ा गर्म करके लें तो कब्ज को दूर करने में भी मदद मिलती है। यदि आपको मोटापे से पाना है छुटकारा तो आपको गर्म पानी का सेवन करना चाहिए। आइए जानें गुणों की खान गर्म पानी के बारे में।

सामान्य पानी जहां स्वास्थ्य  लाभ के लिए आवश्यक है वहीं गर्म पानी सेहत के लिए एक गुणकारी दवा का काम करता है।

गर्म पानी से स्नान जहां थकान मिटाने का सबसे अच्छा साधन है, वहीं त्वचा को निखारने और त्वचा संबंधी बीमारियों को दूर करने में भी गर्म पानी से स्नान करना अच्छा है।

जैसा की सभी जानते हैं कि गर्म पानी सौंदर्य और स्वास्थ्य दोनों ही दृष्टि से अचूक दवा है और यदि इसी में गुलाब जल डाल लिया जाए तो इसे धीरे-धीरे शरीर पर डालकर बहुत आराम मिलता है और शरीर में होने वाला दर्द भी चुटकियों में गायब हो जाता है।

यदि आप बहुत मेहनत करते हैं तो दिनभर ज्यादा थकान हो जाती है, ऐसे में हल्कापन महसूस करने और थकान मिटाने के लिए गर्म पानी बहुत लाभदायक है।

यदि आप गुनगुने पानी का सेवन प्रतिदिन करते हैं तो आप अधिक तरोताजा महसूस करेंगे।
गर्म पानी का इस्तेमाल वजन कम करने, रक्त प्रवाह को संतुलित बनाने और रक्त प्रवाह का संचार ठीक से करने में भी लाभकारी है।

गर्म पानी के साथ नींबू और शहद का मिश्रण बनाकर सेवन करने से आपकी प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है और वजन कम करने में भी ये नुस्खा लाभदायक है।

ठंडे पानी को जहां गुर्दों के लिए हानिकारक माना जाता है वही गुर्दों की सेहत अच्छी बनाए रखने के लिए दिन में कम से कम दो बार यानी सुबह-शाम गुनगुना पानी पीना चाहिए। इससे शरीर में मौजूद गंदगी का जमाव नहीं हो पाता।

गुनगुने पानी को हड्डियों और जोड़ों की सेहत के लिए भी जरूरी माना जाता है। गुनगुना पानी जोड़ों के बीच के घर्षण को कम करने में मदद करता है, जिससे भविष्य में गठिया जैसी गंभीर बीमारियों के होने की आशंका कम हो जाती है। इसे सिर्फ एक भ्रम माना जाता है कि गर्म पानी शरीर के सभी तंत्रों की जरूरत को उस तरह नहीं पूरा कर पाता, जिस तरह ठंडा पानी करता है।

दरअसल, श्वास और गुर्दे संबंधी रोगों में ठंडा पानी बिल्कुकल नहीं पीना चाहिए क्योंकि यह फेफड़ों और गुर्दो की क्रियाविधि को उत्तेजित कर देता है जो कि फेफड़ों और गुर्दों के लिए हानिकारक स्थिति है।

इसके अलावा भी गर्म पानी के बहुत से लाभ है, यदि आप नियमित रूप से चाहे थोड़ी मात्रा में ही गुनगुने पानी का सेवन करेंगे तो आप भविष्य में होने वाली कई आशंकित बीमारियों के होने से बच जाएंगे।

copy disabled

function disabled