सोमवार, 7 अप्रैल 2014

मुन्ना गायब हो गया


!! मुन्ना गायब हो गया !!
एक सज्जन बनारस पंहुचे ,स्टेशन पर पंहुचे , एक लड़का दौड़ता हुआ आया
" मामाजी " मामाजी "बोलते हुए चरण स्पर्श किया और बोला मैं आपका मुन्ना
मामाजी ने कहा कौन मुन्ना ?
उसने कहा मैं आपका मुन्ना , मैं बड़ा हो गया न पहचानोगे कैसे ?
सज्जन ने कहा ओह तु इतना बड़ा हो गया कई साल हो गए तुझको देखे , चलो कोई बात नहीं
बनारस में बहुत घुमे मंदिर देखे और कहा
मैं गंगा नहाना चाहता हूँ , लड़के ने कहा क्यों नहीं यहाँ आये और गंगा स्नान नहीं हो यह कैसे हो सकता है ?
सज्जन ने कपडे उतारे और डुबकी लगाईं , ज्योंही नाहा कर निकले लड़का गायब , कपडे गायब , अटेची गायब . मामाजी बोले मुन्ना मुन्ना ....मुन्ने को देखा है ? ... लोगों ने पुछा कौन मुन्ना ? वही जिसके हम मामा हैं , तौलिये लपेटे मुन्ना मुन्ना चिल्लाते घूमते रहे पर वो नहीं मिला
यही स्थिति वोटर के नाते हमारी है
चुनाव का मौसम आते ही काका ताऊ दादा दादी मामा मामी बुआ फूफा न जाने किस किस उपमा से हम अलंकृत हो जाते हैं , हम चुनाव की गंगा में दुबकी लगते हैं और चुनाव ख़त्म होते ही नेता मुन्ने की तरह गायब .
आप अपने वोट की कीमत जाने , सोच समझकर वोट दें , आगामी चुनावो में ऐसे नेताओं को वोट न दें

copy disabled

function disabled