सोमवार, 7 अप्रैल 2014

मेरा राष्ट्र, मेरा नेता मोदी और उनका राष्ट्रवादी विजन

मेरा राष्ट्र, मेरा नेता मोदी और उनका राष्ट्रवादी विजन -
Vote For India Vote For NaMo, BJP


आज मेरे देश को एक्ट की नहीं बल्कि कठोर इच्छाशक्ति सहित एक्शन की दरकार ज्यादा है और सरकारों को केवल कमेटी ही नहीं बल्कि लोगों से कमिटमेंट भी करनी होगी, तभी इस राजनैतिक, आर्थिक व सामाजिक बदहाली से देश को मुक्ति मिल सकती है और इस की राह में सिर्फ श्री नरेंद्र मोदी का ही विजन देश को एक रास्ता दिखाता प्रतीत होता है जिसके कारण जिस तरह से नरेंद्र मोदी की सभाओं में भीड़ उमड़ रही है तथा साथ ही सभी सर्वे में मोदी 76% वोट पा कर लोगों के बीच प्रधानमंत्री के रूप में पहली पसंद बने हुए हैं,, इससे सहज ही अनुमान लगता है कि उनकी लोकप्रियता देश में कायम है,,हाल में संपन्न पांच राज्यों में विधानसभा चुनावों के नतीजे इस बात के संकेत भी दे रहे हैं कि मतदाता भाजपा में ही विश्वास जता रहे हैं और उसे ही विकल्प के रूप में देख रहे हैं..!!

श्री नरेंद्र मोदी ने इसके साथ-साथ अपनी भावी सरकार को लेकर एक रोडमैप भी देश के सामने रख दिया है, उन्होंने हर राज्य में आईआईटी व आईआईएम जैसे संस्थान होने की बात कही..देश को स्वर्णिम चतुर्भुज बुलेट ट्रेन का सपना दिखाया साथ ही उन्होंने बताया कि बीमारी का सस्ता इलाज कैसे हो, देश से बेरोजगारी कैसे दूर हो, सौ नये शहरों का निर्माण कैसे हो, भ्रष्टाचार कैसे दूर हो, महंगाई कैसे दूर हो, कालेधन को कैसे वापस लाया जाए, गरीबी कैसे दूर हो तथा बिजली, पानी और शिक्षा लोगों को कैसे मिले। ये ऐसे मुद्दे हैं जिससे देश आज जूझ रहा है..इसमें कोई दो राय नहीं है कि यूपीए सरकार के कार्यकाल में अर्थव्यवस्था, विदेश नीति, सुरक्षा, घरेलू मोर्चे पर देश को नाकामी मिली है और अब देश संपूर्णता से काँग्रेस और सहयोगियों के पंजे से मुक्त हो कर तेजी से इनका स्थायी निदान चाहता है...इसी मोदी विजन की तेजोमय व प्रगतिशील राह के मील के पत्थर के रूप में नई टैक्स प्रणाली में जब टैक्स एक व्यक्ति से एक ही बार लिया जाएगा, तो वह टैक्स चोरी क्यों करेगा..???
इस देश में ऐसा कोई घर या व्यक्ति नहीं होगा, जो दुर्गा, गणेश, क्रिसमस, ईद या अन्य किसी सामाजिक कार्यक्रमों में चंदा नहीं देता हो, पर टैक्स की बारी आते ही वह अपना इन्कम छुपाने लगता है, आखिर क्यों?
व्यक्ति रोजमर्रा के जीवन में इतने प्रकार के इनडायरेक्ट टैक्स देकर थक चुका होता है, उपर से जिन राजनेताओं और अफसरों पर आम आदमी के टैक्स को संभालने की जिम्मेदारी है, उनकी काली करतूत उन्हें टैक्स चोरी करने पर मजबूर कर देता है...जोकि अकाट्य सत्य है कि व्यक्तिगत व पारिवारिक हित सिर्फ असुरक्षा की भावना और असुरक्षित भविष्य के डर से ही प्राथमिक बनते हैं ..!!
जैसे मनुष्य मां की कोख से चोर पैदा नहीं होता, हालात उसे चोर बनाता है उसी तरह कोई भी जन्म से करप्ट नहीं होता, ये सरकारी सिस्टम और नेता,पुलिस - प्रशासन का जहरीला त्रिकोण ही उसे करप्ट बनाता है इसलिए इस देश से करप्शन मिटाना है तो सबसे पहले नियम ऐसे बनाने होंगे, जो व्यवहारिक व सरल हो और उसका क्रियान्वयन आसानी से आम आदमी तक हो सके।

सर्वमान्य व जनप्रिय श्री नरेंद्र मोदी पूरे देश में सख्त प्रशासनिक क्षमता वाले नेता के रूप में जाने जाते हैं, इसलिए उनसे उम्मीद है कि चाय पीते हुए उन्होंने जो विजन देशवासियों को दिया है, भारत के प्रधानमंत्री बनने के बाद उसका क्रियान्वयन भी करेंगे और इस देश को करप्शन से निजात दिला कर हमें सुरक्षित, सुनियोजित व प्रगतिवादी भारत के ही नागरिक बनने का सौभाग्य प्रदान करेंगे।

सो मित्रों जुट जाओ दिन कम हैं और कार्य अधिक ... हर वोट पर कमल और मोदी का ही अधिकार स्थापित करना है...!!
मुझ जैसे मूढमगज भी इन सब को समझते हुए ही सिर्फ नरेंद्र मोदी को ही अपना घोषित नेता मानते हैं और वोट कमल को ही देंगे इस बार दिल से और राष्ट्रहित में सफलतापूर्वक मिशन 272+ का इंकलाब हो ही जाये...!!
घर घर कमल, हर हर महादेव
हर हर मोदी, मैं भी मोदी
NaMo NaMo
राष्ट्र सर्वप्रथम
वन्दे मातरम्

copy disabled

function disabled