शनिवार, 14 अप्रैल 2012

मोर और मोरनी की प्रेम कहानी ::-


इक दिन मोरनी बोली मुझे छोड़ कर कभी तुम उड़ तो नहीं जाओगे ,मोर ..उड़ जाऊ तो तुम पकड़ लेना ,,मोरनी बोली ..मै तुम्हे पकड़ सकती हु पर पा नहीं सकती ,,मोर की आँखों में आंसू आ गए ,,उसने अपने सारे पंख तोड़ दिए ,और बोला हम हमेशा साथ रहेंगे ,इक दिन जोर से हवा चली .मोर ने सोचा तूफान आने वाला है ,,तभी मोर बोला तुम उड़ जाओ मै नहीं उड़ सकता ,,मोरनी :-अपना ख्याल रखना कहकर उड़ गयी ,जब तूफान थमा और मोरनी वापस आई तो उसने देखा की मोर मर चूका था ,और इक डाली पर लिखा था ,काश वो इक बार तो कहती की मैं तुम्हे छोड़ के नहीं जा सकती तो सायद में तूफान आने से पहले नहीं मरता ...

copy disabled

function disabled