शनिवार, 14 अप्रैल 2012

कुत्ते के तेज दिमाग का कारनामा

एक दिन एक कुत्ता जंगल में रास्ता खो गया तभी उसने देखा एक शेर उसकी तरफ आ रहा है कुत्ते की सांस रुक गयी!

उसने सोचा आज तो काम तमाम है मेरा फिर उसने सामने कुछ सूखी हड्डियाँ पड़ी देखी वो आते हुए शेर की तरफ पीठ कर के बैठ गया और एक सूखी हड्डी को चूसने लगा और जोर जोर से बोलने लगा:


वाह शेर को खाने का मज़ा ही कुछ और है एक और मिल जाए तो पूरी दावत हो जाएगी और उसने जोर से डकार मारा!


इस बार शेर सकते में आ गया
उसने सोचा ये कुत्ता तो शेर का शिकार करता है जान बचा कर भागो और शेर वहां से चम्पत हो गया!

पेड़ पर बैठा एक बन्दर ये सब तमाशा देख रहा था उसने सोचा ये मौका अच्छा है शेर को सारी कहानी बता देता हूँ शेर से दोस्ती हो जाएगी और उससे ज़िन्दगी भर के लिए जान का खतरा दूर हो जायेगा!

वो फटाफट शेर के पीछे भागा कुत्ते ने बन्दर को जाते हुए देख लिया और समझ गया कि कोई लोचा है!

उधर बन्दर ने शेर को सब बता दिया कि कैसे कुत्ते ने उसे बेवक़ूफ़ बनाया है शेर जोर से दहाड़ा, चल मेरे साथ अभी उसकी लीला खत्म करता हूँ और बन्दर को अपनी पीठ पर बैठा कर शेर कुत्ते की तरफ लपका!

क्या आप कुत्ते के तेज दिमाग का कारनामा जानना चाहेंगे.......

.

.

.

.

.

.

.

कुत्ते ने शेर को आते देखा तो एक बार फिर उसकी तरफ पीठ करके बैठ गया, और जोर जोर से बोलने लगा, इस बन्दर को भेज के एक घंटा हो गया, साला एक शेर फाँसकर नही ला सकता!

copy disabled

function disabled