शनिवार, 14 अप्रैल 2012

चारो ओर खड़े है लुटेरे बड़े ही खतरनाक|

तुम कायर बनकर बहना, कभी भाग न जाना, जीवन साथी चुनने में पूरा ही विवेक जगाना|
चिकनी चुपड़ी बातों में बहना, तु कभी न आना, अपने कृत्यों से माँ बाप का, सिर न कभी लजाना||

माँ बाप कभी तुम्हारे दुश्मन हो नहीं सकते, तुम्हारे जीवन में वे कभी कांटे बो नहीं सकते|
कैसे भूल सकती हो तुम, उनके सारे एहसान, जीते जी कैसे पहुंचाओगी, तुम उन्हें शमशान||

जब से सोलह बसंत, तूने किये पार, जब से कालेज का देखा तुमने द्वार|
क्यों छाया दिमाग पर, प्यार का बुखार, अब भी वक्त है समय रहते उसे उतार||

प्रदर्शनकी वस्तु नहीं है बहना,ये तुम्हारी काया,ऐसे कपडे मत पहनो कि,शरमा जाये तुम्हारा साया|
फीका सौन्दर्य तुम्हारा, फीकी सारी इसकी माया, आत्मा के आभूषण से यदि, इसे तुने नहीं सजाया||

अपने ही हाथों तुम जीवन में,जहर घोल रही हो,जवानीके नशे में तुम बेसुध होकर डोल रही हो|
हिरोईन की अदाओं से,तुम खुद को तौल रही हो,क्यों कुमार्ग पर चलकर बर्बादीके पट खोल रही हो||

वासना का कुत्ता जब जब,सिर पर चढकर भौंका,तब तब हर लड़की ने,जीवन में खाया है धोखा|
धर लेता विकराल रूप, जब जब यौवन का सागर, मुश्किलमें पड जाती है, तब तब जीवनकी नौका||

नारी के रोम रोम में, भरी मादकता अपार है, इसीलिए तो चारो ओर फिरते चाटुकार है|
घास कभी ना डालना, अगर तु जरा भी समझदार है, वासना के दानव तुझे नौंचने को तैयार है||

जो जो भी गई भागकर, ठोकर खाती है, अपनी गलती पर रो-रोकर आंसू बहाती है|
एक ही किचन में, मुर्गी के संग साग पकाती है, हुई भयानक भूल सोचकर पछताती है||

यौवन के नशे में मत करना, तु कोई भी पाप, वरना सहना होगा तुम्हे उम्र भर संताप|
अपने हाथों मत करना क्रिया कर्म खुशियों का, नहीं तो खुद ही दोगी तुम खुद को अभी शाप||

बाबुलकी बगियामें जब तू , बनके कलि खिली, तुम्हे क्या मालूम कि उनको कितनी खुशी मिली|
उस बाबुलको मारकर ठोकर, जब तुम घरसे भाग जाती!जिनका प्यारा हाथ पकड़कर तुम पहली बार चली||

माँ बाप ने बड़े प्यार से तेरा जीवन बाग सींचा, कैसे दिखा सकती हो तुम, उनको समाज में नीचा|
परिवार कि खुशियों का, जो तुमने फाड़ा दामन, सूख जायेगा तेरे सुखों का, हरा भरा बगीचा||

संस्कार कि चुनरी से बदन को पूरा ढांक,लाज का घूंघट खोल, तू इधर उधर मत झांक|
बिन सोचे समझे बहना,तू कुछ भी मत फांक,चारो ओर खड़े है लुटेरे बड़े ही खतरनाक||

copy disabled

function disabled