सोमवार, 7 अक्तूबर 2013

तुलसी के तांत्रिक उपाय

तुलसी के तांत्रिक उपाय,
तुलसी के सात पत्ते और सात काली मिर्च धन हानि होने से बचाती है

तुलसी आमतौर पर सभी हिंदू परिवारों के घरों में होती है, क्योंकि शास्त्रों के अनुसार तुलसी को पूजनीय और पवित्र माना गया है। तुलसी घर में होने से कई प्रकार के दैवीय और चिकित्सकीय लाभ प्राप्त होते हैं।
तुलसी के कई प्रकार के प्रयोग बताए गए हैं। कुछ उपाय प्रयोग सामान्य हैं तो कुछ आयुर्वेद से जुड़े हुए हैं। यहां जानिए तुलसी के कुछ तांत्रिक उपाय, जिनसे आप अपनी किस्मत चमका सकते हैं।

यदि कोई व्यक्ति सभी कार्यों में सफलता प्राप्त करना चाहता है तो वह तुलसी की जड़ को विधिपूर्वक यानी तुलसी की जड़ को निमंत्रण देकर अपने घर ले आएं। घर पहुंचकर तुलसी की जड़ को गंगाजल से धो लें। इसके बाद इसका पूजन करें। पूजन के बाद इस जड़ को दाएं हाथ पर पीले कपड़े में लपेटकर बांध लें। पूजन करते समय किसी तुलसी मंत्र का जप करेंगे तो श्रेष्ठ रहेगा।
यह एक तांत्रिक उपाय है और इसे करने पर आपको धन संबंधी कार्यों में भी विशेष सफलता प्राप्त होगी।

यदि किसी व्यक्ति को अचानक धन हानि होने लग जाए या स्वास्थ्य खराब हो जाए या किसी की बुरी नजर लग जाए तो तुलसी का यह तांत्रिक उपाय करें।
उपाय के अनुसार तुलसी के सात पत्ते और सात काली मिर्च मुट्ठी में लें। इसके बाद जिस व्यक्ति की नजर उतारनी है, उसे लेटा दें और मुट्ठी बांध उसके सिर से पैर तक 21 बार ऊँ-ऊँ मंत्र बोलकर वार लें। इसके बाद काली मिर्च पीड़ित व्यक्ति को चबाने को दें और तुलसी के पत्तों को मसलकर निगलने को दें।
अंत में प्रभावित व्यक्ति को लेटाकर उसके तलवों को किसी कपड़े से 7 बार या 11 बार झाड़ दें।

यदि आप मालामाल होना चाहते हैं तो घर के मुख्य दरवाजे के दोनों ओर तुलसी के पौधे गमले में लगाएं। प्रतिदिन तुलसी की उचित देखभाल करें।
इस उपाय से आपके घर में धन आने लगेगा और पैसों की तंगी खत्म हो जाएगी। दरवाजे के दोनों ओर तुलसी का पौधा लगाने से घर में नकारात्मक ऊर्जा नहीं आएगी और सकारात्मक ऊर्जा बढ़ती जाएगी। यह आपके लिए काफी लाभदायक सिद्ध होगी।

यदि कोई व्यक्ति तुलसी की माला गले में धारण करता है तो उसे सभी देवी-देवताओं की कृपा प्राप्त होती है। ऐसे लोगों को किसी की बुरी नजर भी नहीं लगती है। साथ ही, नकारात्मक शक्तियों का प्रभाव भी नहीं पड़ता है। असली तुलसी की माला धारण करने पर सभी कार्यों में सफलता मिलती है और कभी भी पैसों की कमी नहीं होती।

अशुभ सपने दिखाई दें तो यह उपाय करें: स्वप्न का फल तब ही मान्य होता है, जब सपने देखने वाला पूर्ण रूप से स्वस्थ हो। अशुभ सपने देखकर डरना नहीं चाहिए। अशुभ स्वप्न देखकर पुन: शयन करना और रात्रि में ही उसे दूसरे से कह देने से अनिष्टफल नष्ट हो जाते हैं।
प्रात: तुलसी के पौधे के आगे अशुभ स्वप्न को कह देने से दुष्फल समाप्त हो जाता है। यदि नियमित रूप से ध्यान मुद्रा में 20-25 मिनट अपने इष्ट का स्मरण करें तो कुछ समय में स्वप्न में पूर्वाभास मिलने लगते हैं।

पुराने समय से ही हिंदू धर्म में तुलसी के पौधे को पवित्र और पूजनीय माना जाता है। घर के आंगन में तुलसी का पौधा हो तो घर से कलह और अशांति दूर होती है। इसके साथ ही तुलसी का पौधा होने पर घर-परिवार में महालक्ष्मी की विशेष कृपा भी रहती है। शास्त्रों में भगवान विष्णु और तुलसी के विवाह का वर्णन मिलता है। इस कारण तुलसी को विष्णुप्रिया भी कहा जाता है।

copy disabled

function disabled